बिहार में लॉ एंड ऑर्डर व शराबबंदी पर फिर होगी हाईलेवल मीटिंग, CM नीतीश की चेतावनी के बाद थानाध्यक्ष-डीएसपी पर एक्शन का दिखावा!

बिहार में लॉ एंड ऑर्डर व शराबबंदी पर फिर होगी हाईलेवल मीटिंग, CM नीतीश की चेतावनी के बाद थानाध्यक्ष-डीएसपी पर एक्शन का दिखावा!

PATNA: बिहार विधानसभा चुनाव के बाद नीतीश कुमार एक बार फिर से मुख्यमंत्री बन गए हैं. इस बार के चुनाव में सीएम नीतीश को बिहार की अफसरशाही,भ्रष्टाचार,फेल हो चुकी शराबबंदी को लेकर वोटरों की भारी नाराजगी का सामना करना पड़ा है। पूरे चुनाव प्रचार के दौरान सीएम नीतीश को  जनता के गुस्से से दो-चार होना पड़ा था। चुनाव परिणाम के बाद नीतीश कुमार जैसे-तैसे मुख्यमंत्री तो बन गए लेकिन सत्ताधारी जेडीयू तीसरे नंबर पर पहुंच गई।

सीएम नीतीश की चेतावनी के बाद कार्रवाई का दिखावा

 मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद नीतीश कुमार ने लॉ एंड ऑर्डर व शराबबंदी पर हाईलेवल मीटिंग की थी और अफसरों को साफ लहजे में चेताया था कि अपराध को बर्दाश्त नहीं करेंगे। साथ ही सीएम नीतीश ने शराबबंदी फेल करने में लगे अफसरों पर नकेल कसने को कहा था। इसके बाद बिहार पुलिस मुख्यालय नींद से जाग गया है। अब ताबड़तोड़ थानेदारों पर कार्रवाई की जा रही है। मुख्यालय की तरफ से जानकारी भी दी जा रही है कि शराब मिलने के मामले में थानेदारों पर कार्रवाई की गई है। इन सब के बीच बड़ा सवाल यही उठ रहा कि आखिर यह कार्रवाई पहले क्यों नहीं हो रही थी? क्या सीएम के सामने पाक-साफ दिखने के लिए पिछले कुछ दिनों से कार्रवाई का दिखावा किया जा रहा? 

 आज फिर से हो रही समीक्षा बैठक

आज एक बार फिर से लॉ एंड ऑर्डर व शराबबंदी पर हाईवेल मीटिंग हो रही  है। उस मीटिंग में एक बार फिर से पूरे मामले की समीक्षा होगी।मीटिंग से पहले शराब मामले में पुलिस मुख्यालय की तरफ से ताबड़तोड़ छापेमारी कराई जा रही है। मकसद है कि जब मीटिंग हो उस दिन पुलिस मुख्यालय की तरफ से बताया जाएगा कि शराबबंदी कानून को विफल करने में लगे थानेदारों पर कार्रवाई की जा रही है। साथ ही लापरवाह एसडीपीओ से भी शो-कॉज पूछा गया है।जानकार सूत्र बताते हैं कि थानेदारों पर कार्रवाई सिर्फ दिखावा है।कुछ दिन के बाद फिर से सब कुछ सामान्य हो जाएगा।

8 दिसंबर को 3 थानाध्यक्षों व 2 डीएसपी पर एक्शन 

बिहार में शराबबंदी के बाद भी धडल्ले से शराब का कारोबार हो रहा। बताया जाता है कि इस धंधे में पुलिस वाले भी शामिल हैं लिहाजा शराब का धंधा खूब फल-फूल रहा। बिहार पुलिस मुख्यालय ने शराब मिलने के मामले में मंगलवार को तीन थानाध्यक्षों को सस्पेंड किया है. वह दो एसडीपीओ से स्पष्टीकरण की मांग की है.

पुलिस मुख्यालय ने शराब मिलने की सूचना पर छापेमारी कराई जहां से भारी मात्रा में शराब बरामद हुआ. इसके बाद वहां के थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया है.वहीं उस अनुमंडल के एसडीपीओ से स्पष्टीकरण की मांग की गई है .पुलिस मुख्यालय के आदेश पर सासाराम के मुफस्सिल थाना अध्यक्ष राकेश सिंह को निलंबित किया गया है. वहीं सासाराम के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी से स्पष्टीकरण की मांग की गई है .वहीं, कैमूर के कुदरा थाना अध्यक्ष को भी शराब मिलने के मामले में निलंबित किया गया है, वहीं मोहनिया के एसडीपीओ से स्पष्टीकरण की मांग की गई है. गया के रोशनगंज थानाध्यक्ष प्रभात कुमार शरण को भी शराब कांड में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित किया गया है.

अब तक पांच SDPO से शो-कॉज

 इसके पहले पुलिस मुख्यालय के आदेश पर मीनापुर, कंकड़बाग,अहियाापुर, गंगा ब्रिज थाना अध्यक्ष को 29 नवंबर को ही निलंबित किया गया था। वहीं हाजीपुर सदर एसडीपीओ,पटना सदर एसडीपीओ व पुलिस उपाधीक्षक मुजफ्फरपुर से स्पष्टीकरण की मांग की गई है.

Find Us on Facebook

Trending News