नियोजित शिक्षकों की हड़ताल और कोरोना का असर, बिहार में मैट्रिक परीक्षा की कॉपी जांच की अवधि एक बार फिर से बढ़ा दी गई....

नियोजित शिक्षकों की हड़ताल और कोरोना का असर, बिहार में मैट्रिक परीक्षा की कॉपी जांच की अवधि एक बार फिर से बढ़ा दी गई....

PATNA: बिहार में मैट्रिक परीक्षा की कॉपी जांच की अवधि एक बार फिर से विस्तारित की गई है .नियोजित शिक्षकों की हड़ताल की वजह से मैट्रिक परीक्षा की कॉपी जांच का कार्य प्रभावित हो रहा है. बिहार बोर्ड ने एक बार फिर से कॉपी जांच की समय अवधि को बढ़ाकर 25 मार्च कर दिया है. पहले 22 मार्च कॉपी जांच की अंतिम तारीख थी इसे बढ़ाकर 25 मार्च तक कर दिया गया है .22 मार्च को कॉपी जांच का काम स्थगित रहेगा .

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के परीक्षा नियंत्रक ने सभी डीएम और जिला शिक्षा पदाधिकारियों को इस संबंध में निर्देश दिया है. बिहार बोर्ड ने कहा है कि अब 25 मार्च तक हर हाल में सभी विषयों का मूल्यांकन कार्य समाप्त कर लें.

बता दें कि बिहार में नियोजित शिक्षक अपनी मांग के समर्थन में 17 फरवरी से हड़ताल पर हैं. माध्यमिक शिक्षक संघ भी 25 फरवरी से हड़ताल पर है.एक महीना होने के बाद भी राज्य सरकार ने हड़ताल समाप्त कराने की दिशा में अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है।

नियोजित शिक्षकों की हड़ताल की वजह से मैट्रिक की कॉपी जांच में दक्ष शिक्षक नहीं मिल रहे।लिहाजा भारी परेशानी का सामना करना पड़ा है।कई जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों ने इस संबंध में अपर मुख्य सचिव को स्पष्ट बता दिया कि गणित,विज्ञान एवं अन्य विषयों में योग्य शिक्षक कॉपी जांच के लिए नहीं मिल रहे।जिस वजह से मूल्यांकन कार्य प्रभावित हो रहा है।शिक्षकों की हड़ताल की वजह से अब दो बार जांच की समय सीमा को बढ़ाया गया है।

पत्र देखिए...


Find Us on Facebook

Trending News