ऑक्सीजन किल्लत दूर करने की कोशिश: 8 नए रिफिलिंग प्लांट किये गए चालू, आज 194 टन LMO की हुई आपूर्ति-शाहनवाज

ऑक्सीजन किल्लत दूर करने की कोशिश:  8 नए रिफिलिंग प्लांट किये गए चालू, आज 194 टन LMO की हुई आपूर्ति-शाहनवाज

Patna: बिहार में कोरोना से कोहराम मचा है।लोग त्राहिमाम कर रहे। पिछले एक सप्ताह से अस्पतालों में ऑक्सीजन की भी भारी किल्लत हो गयी है। हालांकि सरकार ऑक्सीजन किल्लत दूर करने की कोशिश कर रही।

बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने बताया कि बिहार में पूर्व में केवल 11 ऑक्सीजन रिफिलिंग पॉइंट प्लांट कार्यरत थे।  2 सप्ताह में विशेष प्रयास से आठ नए रिफिलिंग प्लांट को ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिल के लिए कार्यरत कराए गए हैं। इनमें से चार पटना, दो बेगूसराय,2 औरंगाबाद, दो भागलपुर , 2 मुजफ्फरपुर, एक नालंदा, एक गया, एक दरभंगा, एक पूर्वी चंपारण, एक पूर्णिया, एक गोपालगंज  और एक समस्तीपुर में संचालित है। समस्तीपुर में एक नया प्लांट अगले 2 दिनों के कार्यरत हो जाएगा। इसके अतिरिक्त से एम्स पटना, महावीर कैंसर संस्थान पटना ईएसआईसी बिहटा तथा पारस हॉस्पिटल में विभिन्न क्षमता के एल एम संग्रहण हेतु क्रायोजेनिक टैंक संधारित है। इन संयंत्रों के लिए बोकारो और जमशेदपुर एल एम ओ की आपूर्ति सुनिश्चित कराई जा रही है।

 उद्योग मंत्री ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा बिहार को 214 MT का आवंटन दिया गया है। जिसमें से 14 एमटी का एयर सिपरेशन यूनिट से प्राप्त करने का निर्देश है जो कि राज्य के अंतर्गत संचालित इकाइयां हैं। यह उनसे प्राप्त किया जा रहा है। शेष 180 एम टी तीन जगह से प्राप्त हो रहा। जिसमें से अब तक 25 अप्रैल को अधिकतम 156 एमपी का उठाव किया जा सका था। उसके बाद लगातार 90 से 100 एमटी का उठाव किया जा रहा है। 28 अप्रैल को 119, 29 को 107 एमटी की आपूर्ति हुई । शाहनवाज हुसैन ने बताया कि 15 अप्रैल को एल एम ओ आपूर्ति जहां केवल 16 टन थी वहां आज बढ़कर 160 MT हो गई है। साथ ही इस में लगातार वृद्धि की जा रही है । इसके अतिरिक्त आइओसीएल से चार अतिरिक्त टैंकर प्राप्त किए जाने हैं। जिनमें से तीन टैंकर प्राप्त हुआ है, एक टैंकर आज रात तक प्राप्त होने की संभावना है। इनके प्राप्त होने से 60 टन और परिवहन की क्षमता में वृद्धि हो जाएगी। उन्होंने बताया कि आज की तिथि में करीब 194 टन एल एम ओ की आपूर्ति हो पा रही है ।

Find Us on Facebook

Trending News