पटना के एक गांव में 5 दिन में 11 लोगों की हुई मौत,पूरे इलाके में हड़कंप,ग्रामीण कर रहे मदद की अपील

पटना के एक गांव में 5 दिन में 11 लोगों की हुई मौत,पूरे इलाके में हड़कंप,ग्रामीण कर रहे मदद की अपील

PATNA : कोरोना के दूसरी लहर ने भारत के साथ ही बिहार में भी कहर मचा रखा है.कोरोना के कहर के बीच बिहार की राजधानी पटना जिले के एक गांव औंटा में 5 दिन में 11 लोगों की मौत के बाद पूरे इलाके में दहशत का माहौल है। बताया गया है सभी मे कोरोना से मिलता जुलता लक्षण दिखा है लेकिम मोकामा के बीडीओ ने कोरोना से मौत की बात से इनकार किया है।

बताया जा रहा है कि सोमवार की सुबह एक 45 वर्षीय शिक्षक  की मौत हुई जो सर्दी बुखार से पीड़ित थे । यानी कह सकते हैं कि कोरोना से मिलते जुलते लक्षण उनमें देखा गया था। वहीं इससे पहले पिछले शनिवार को 24 घण्टे में 2 लोगों की मौत हो गयी। दोनों एक ही परिवार के थे।बड़ी बात यह है दोनो ने पिछले सप्ताह वैक्सीन लिया था। इसके बाद बुखार आया फिर एक दिन के अंतराल के बाद दोनों ने दम तोड़ दिया। इसी तरह इस गांव के अन्य मरने वाले लोग भी बुखार या कोरोना के ज लक्षणों से जूझ रहे थे । उन लोगों की भी तबीयत खराब थी और बाद में मौत हो गई । बताया जा रहा है कि सोमवार को जिस शिक्षक की मौत हुई वह कुछ दिन पहले तक पूरी तरह स्वस्थ थे सर्दी बुखार होने के बाद उनकी मौत हो गई ।

ग्रामीण कहते हैं कि जिन 11 लोगों की मौत हुई है उस परिवार से आने वाले कई सदस्य कोरोना के लक्षणों से ग्रसित हैं । इन लोगों का दावा है कि इनमें कई लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव है । वहीं 11 लोगों की मौत पर बात करते हुए मोकामा वीडियो मनोज कुमार ने बताया है कि औंटा गांव में जिन 11 लोगों की मौत हुई उसमें से कोई कोरोना पॉजिटिव नहीं है।  लेकिन ग्रामीणों का कहना है की प्रशासन गांव में हुई 11 लोगों की मौत पर ध्यान दे । जिन घरों में मौत हुई है उसे कंटेनमेंट जोन बनाया जाए ।अगर ध्यान नहीं दिया तो मौत की संख्या बढ़ सकती है । इन लोगों का आरोप है कि पिछले 5 दिनों से मोकामा के सदर अस्पताल में rt-pcr जांच बंद है । इस स्थिति में हम लोगों के पास जांच की कोई सुविधा नहीं है ।

Find Us on Facebook

Trending News