BIHAR NEWS: पूर्व विधायक की मांग, मांड़र रणखेत मैदान की घेराबंदी कार्य की जांच हो और दोषी पर कार्रवाई

BIHAR NEWS: पूर्व विधायक की मांग, मांड़र रणखेत मैदान की घेराबंदी कार्य की जांच हो और दोषी पर कार्रवाई

खगड़िया: पूर्व सदर विधायक पूनम देवी यादव ने मांड़र रणखेत मैदान की घेराबंदी निर्माण कार्य में गुणवत्ता के घोर अभाव को लेकर आये एक्शन में हैं। यादव ने जिला पदाधिकारी आलोक रंजन घोष को एक पत्र देकर कहा है कि मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना अंतर्गत मेरे द्वारा पूर्व में अनुशंसित योजना वित्तीय वर्ष 2019-20 से सदर प्रखण्ड के मांडर दक्षिणी पंचायत के रणखेत मैदान की चहारदीवारी निर्माण कार्य में गुणवत्ता का घोर अभाव है। जिसके कारण चहारदीवारी गिर गयी है, जांच का विषय है। उन्होंने सोशल मीडिया तथा स्थानीय लोगों द्वारा सूचना मिलने की बात कही है। 

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना अंतर्गत खगड़िया प्रखंड के माडर दक्षिणी पंचायत के रणखेत मैदान के चहारदीवारी निर्माण कार्य हेतु वित्तीय वर्ष 2019-2020 से अनुशंसा की गयी थी। जिसका निर्माण प्राकक्लन के अनुरूप गुणवत्तायुक्त नहीं होने के कारण बरसात में गिर गया है। जिसके कारण कभी भी अप्रिय घटना हो सकती थी। चूंकी उक्त मैदान में बच्चे खेलखुद के लिए जाते हैं। इस दौरान  आशंका थी कि दीवार के ध्वस्त होने से किसी की जान भी जा सकती थी। सोशल मीडिया तथा अन्य जगह पर फोटो को गौर से देखने पर प्रतीत होता है कि कनीय अभियंता एवं विभागीय मिलीभगत से चहारदीवारी के निर्माण में प्राक्कलन के अनुरूप नीव नहीं होने के कारण ही ऐसा हुआ है। 


उन्होंने यह भी कहा कि विभाग में कमीशनखोरी चरम सीमा पर व्याप्त है, जिसकी जानकारी मेरे द्वारा कई बार दी जा चुकी है। विभागीय कार्यों में अनियमित्ता एवं लापरवाही खगड़िया समेत अन्य विधान सभा क्षेत्रों के अधिकांश सरकारी स्तर पर कराये जा रहे सड़क, भवन, चहारदीवारी व अन्य निर्माण कार्यों की खबरें अखबार में छपती रहती है जो एक आम बात हो गयी है। यादव ने उच्चस्तरीय टीम गठित करवाकर उक्त योजना की जांच कराये जाने तथा सरकारी खजाने से बन्दरबांट करने वाले विभागीय पदाधिकारियों से व्यय की गयी राशि की रिकवरी और दोषी पदाधिकारियों पर ठोस कार्रवाई करने की मांग की है।

Find Us on Facebook

Trending News