BIHAR NEWS: नगर निगम ने कसी कमर, शहर को चमकाने के लिए नई एंजेसी से करार, नगरवासी ही करेंगे शुल्क भुगतान

BIHAR NEWS: नगर निगम ने कसी कमर, शहर को चमकाने के लिए नई एंजेसी से करार, नगरवासी ही करेंगे शुल्क भुगतान

CHHAPRA: स्वच्छ भारत मिशन, नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल, प्रदूषण नियंत्रण परिषद और ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के मानदंडो पर खरा उतरने के लिए छपरा नगर निगम ने कमर कस ली है। इसी कड़ी में नगर निगम ने नगर क्षेत्र की सफाई के लिए नए कार एजेंसी का चयन कर लिया है और वर्क आर्डर भी जारी कर दिया है। वर्क आर्डर जारी जारी होने के साथ ही एजेंसी ने काम करना भी शुरू कर दिया है।

हालांकि एजेंसी के कार्यकलाप से लोगों में मायूसी देखी जा रही है। लोगों का कहना है कि 13 दिन के कार्य में वह बेहतरी नहीं दिखी जो दिखनी चाहिए थी। वही निगमायुक्त संजय कुमार उपाध्याय और उप नगर आयुक्त हरीश कुमार के अनुसार अभी इतना जल्दी निर्णय लेना उचित नहीं है। अभी तो कार्य शुरू हुआ है और बेहतर होगा यदि कार्य बेहतर नहीं होंगे तो नगर निगम निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र है। फिलहाल जो निर्णय हुए हैं वह निर्णय प्रभात खबर अपने सुधी पाठकों के पास पहुंचा रहा है।

प्रथम पार्ट में शहर के पश्चिमी क्षेत्र के इन सड़कों की होगी सफाई

प्रथम समूह के तहत छपरा नगर निगम के वार्ड 1 से 22 में डोर टू डोर सूखा एवं गीला कचरा का सेपरेशन करते हुए संग्रहण एवं प्रसंस्करण स्थल पर डंप करने को कहा गया है। साथ ही इन वार्डों के मुख्य सड़कों की सुबह और शाम में सफाई मसलन झाड़ू लगाना ,कूड़ा उठाना एवं पृथक्करण व प्रसंस्करण कार्य करके डंप करना शामिल है। यह कार्य सुबह और शाम दोनों समय करना है।

दूसरे पार्ट में शहर के पूर्वी क्षेत्र के इन सड़कों की होगी सफाई

छपरा नगर निगम के दूसरे पार्ट में नगर क्षेत्र के पूर्वी क्षेत्र को शामिल किया गया है। इसमें वार्ड 23 से 45 तक के सभी वार्डों में डोर टू डोर सूखा एवं गीला कचरा का सेपरेशन करते हुए संग्रहण एवं प्रसंस्करण स्थल पर डंप करने को कहा गया है। साथ ही इन वार्डों के मुख्य सड़कों की सुबह और शाम में सफाई मसलन झाड़ू लगाना ,कूड़ा उठाना एवं पृथक्करण व प्रसंस्करण कार्य करके डंप करना शामिल है। यह कार्य सुबह और शाम दोनों समय करना है।

सफाई एजेंसी को दिए गए यह 10 निर्देश

  1. डोर टू डोर सफाई कार्य में लगाए गए श्रमिक वाहन एवं वाहन पर कार्यरत श्रमिक का विवरण नाम, पता, पहचान पत्र एवं भुगतान किए जाने वाले बैंक का खाता संख्या के साथ वार्डवार विवरण देना होगा।
  2. डोर टू डोर या मुख्य पथ की सफाई कार्य में लगाए गए सभी कर्मियों को ड्रेस एवं पहचान पत्र उपलब्ध कराना होगा। साथ ही सुरक्षा उपकरण और कोविड-19 के दिशा निर्देशों के अनुरूप कार्य करना होगा।
  3. एजेंसी का टोल फ्री नंबर सार्वजनिक करना होगा। इसके लिए फ्लेक्स या बैनर के माध्यम से शहर के मुख्य स्थलों पर प्रदर्शित करना होगा, ताकि आम जनता इसका लाभ ले सके, फ्लेक्स और बैनर लगाने वाले जगहों की सूची भी उपलब्ध करानी होगी।
  4. सफाई कार्य में लगाए गए वाहनों को 2 खंड में प्रदर्शित करना होगा। नीला केवल गीला कचरा के लिए और हरा सूखा कचरा के लिए रखा जाएगा।
  5. डोर टू डोर सफाई वह कचरा संग्रहण क्रम में विभागीय निर्देश के तहत प्रत्येक होल्डिंगधारी या होल्डिंग में स्थित किराएदार से ₹30 मासिक एवं व व्यावसायिक होल्डिंग से 100 सेवा शुल्क ली जाएगी। यह शुल्क वार्डवार एजेंसी के प्रतिनिधि द्वारा वसूला जाएगा और इसके बदले में फोल्डिंग धारी को रसीद दिया जाएगा।
  6. प्राप्त होने वाले राजस्व की विस्तृत जानकारी देने के लिए रजिस्टर में मेंटेन करना होगा। हर वार्ड के लिए अलग-अलग संधारण रजिस्टर होगा। जिसमें होल्डिंग धारक या किराएदार का गली संख्या और वसूल की गई राशि का विवरण अंकित करना होगा।
  7. मुख्य पदों की सफाई के लिए लगाए गए कर्मियों एवं वाहन की पथवार सूची बनाकर विवरण प्रस्तुत करना होगा। 
  8. दोनों उप नगर आयुक्त द्वारा सेवा शुल्क वसूली के लिए वार्डवार होल्डिंग की संख्या की गणना कर रसीद छापने के लिए विधिवत प्रक्रिया अपनाई जाएगी एवं संबंधित एजेंसी को आपूर्ति की जाएगी तथा रसीद का आगत निर्गत जमा कर विधिवत नियंत्रण रखी जाएगी ।
  9. एनजीटी कोलकाता के आदेश के आलोक में प्रकृति, प्रदूषण एवं पर्यावरण से संबंधित अन्य निर्देशों का पालन किया जाएगा।
  10. इनको मिला निगरानी का जिम्मा

नगर क्षेत्र की सफाई के लिए जिस आउटसोर्सिंग एजेंसी को नियुक्त किया गया है । उनके कार्यों की निगरानी के लिए नगर निगम के चार अधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है । इनमें उप नगर आयुक्त शशि भूषण मिश्र, उप नगर आयुक्त हरिश्चंद्र, नगर प्रबंधक आसिफ सिराज, यांत्रिक अभियंता कुंदन कुमार शामिल है। नगर आयुक्त ने इनकी प्रतिनियुक्ति करते हुए अपने आदेश में कहा है कि 1 सितंबर 2021 से आउटसोर्सिंग एजेंसी द्वारा डोर टू डोर एवं मुख्य पथ की सफाई एवं कूड़ा संग्रहण का कार्य दो पालियों  में की जा रही है। इनके कार्यों की निगरानी एवं अनुश्रवण के लिए क्षेत्रवार और वार्ड वार प्रतिदिन का कार्य योजना बनाकर उपलब्ध कराना होगा, ताकि नगर निगम क्षेत्र की बेहतर सफाई हो सके।

क्या कहते हैं निगमायुक्त

छपरा नगर निगम के निगमायुक्त संजय कुमार उपाध्याय कहते हैं कि अभी टेंडर हुए 13 दिन   ही हुए हैं ।सफाई कार्य पर निगरानी रखने के लिए चार अफसरों को प्रतिनियुक्त कर दिया गया है। यदि ठीक-ठाक रहा तो एजेंसी कार्य करती रहेगी। और यदि संतोषप्रद नहीं रहा तो नगर निगम निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र है।

Find Us on Facebook

Trending News