BIHAR NEWS : आयुध भंडार से चोरी हुए एके 47 मामले में NIA ने सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर की, माओवादियों को किया जाना था सप्लाई

BIHAR NEWS : आयुध भंडार से चोरी हुए एके 47 मामले में NIA ने सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर की, माओवादियों को किया जाना था सप्लाई

PATNA : माओवादियों को सप्लाई करने के लिए चोरी किए गए एके-47 हथियार की बरामदगी में एनआईए ने लगभग छह माह बाद सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर कर दी है। पूर्व में केंद्रीय जांच एजेंसी द्वारा मामले में मुख्य अभियुक्त राजीव सिंह उर्फ चुन्नू सिंह सहित 13 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर किया था। 

NIA के अनुसार संक्रमण के कारण कोर्ट की सुनवाई में थोडा विलंब हुआ है, लेकिन अब पर जल्द कार्रवाई की तैयारी की जा रही है। बताया गया जांच एजेंसी ने इससे पहले 13 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी गई थी, लेकिन सभी आरोपियों ने डिस्चार्ज पेटिशन फाइल कर दिया था. जिसे देखते हुए अब सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर कर दी है।

जबलपुर के आयुध भंडार से हुई थी चोरी

दरअसल, जबलपुर के आयुध भंडार से 22 एके-47 चोरी हुई थी, जिसे माओवादियों को सप्लाई की जानी थी। लेकिन उससे पहले ही मामले का खुलासा हो गया। सबसे पहले 3 एके-47 मुंगेर से बरामद हुई. इसके बाद पूरी जांच NIA के हवाले कर दी गई. उसके बाद हुई जांच के दौरान राजीव सिंह उर्फ चु्न्नू को गया जिले के रामपुर से 7 दिसंबर 2020 को गिरफ्तार किया गया था. जांच के दौरान NIA ने कई जगहों पर छापेमारी कर 14 लोगों को गिरफ्तार किया था. जिसके बाद आरोपियों के पास से जबलपुर से चोरी हुई एके-47 और उसके स्पेयर पार्ट्स बरामद किया गया। एनआईए के अनुसार  सरगना राजीव सिंह गया जिले के तेतर गांव का पूर्व मुखिया रह चुका है. राजीव सिंह जबलपुर आयुध भंडार से हथियार के पार्ट्स चोरी कर उनसे हथियार बनाने का काम करता था.

मुंगेर बना प्रमुख केंद्र

जांच के दौरान इस बात की भी जानकारी मिली कि जबलपुर आयुध डिपो से कुछ सालों के अंदर 76 से ज्यादा एके-47 चोरी हुई थी. जिसमें से अधिकतर हथियार तस्करी के जरिए मुंगेर भेजे गए थे. इस मामले में आयुध डिपो में आर्मर के पद पर तैनात रहे पुरुषोत्तम लाल को गिरफ्तार किया जा चुका है।


Find Us on Facebook

Trending News