BIHAR NEWS : इलाज के अभाव में हुई बच्ची की मौत पर डॉक्टरों के खिलाफ नहीं हुई कोई कार्रवाई, दुखी परिवार की सहायता करने नहीं आए स्थानीय जनप्रतिनिधि

BIHAR NEWS : इलाज के अभाव में हुई बच्ची की मौत पर डॉक्टरों के खिलाफ नहीं हुई कोई कार्रवाई, दुखी परिवार की सहायता करने नहीं आए स्थानीय जनप्रतिनिधि

MUZAFFARPUR : चार दिन पहले पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हुआ था, जिसमें एक व्यक्ति गोद में अपनी मृत बच्ची के शव को लेकर रोते हुए नजर आ रहा था। बताया गया कि इलाज के अभाव में बच्ची की मौत हो गई। इस दौरान बच्ची को लेकर पिता दो घंटे तक अस्पतल के चक्कर लगाता रहा। आश्चर्य की बात है कि इसके बाद भी स्थानीय जिला प्रशासन और किसी जनप्रतिनिधि ने दुखी परिवार का सुध लेना जरुरी समझा। यहां तक अस्पातल से नदारद रहनेवाले डॉक्टरों के खिलाफ भी किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई। ऐसे में बच्ची के परिवार की सहायता के लिए स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता आगे आए हैं। उन्होंने बच्ची की मौत की घटना को लेकर न सिर्फ न्यायिक जांच की मांग की है, बल्कि अस्पताल की लापरवाही के कारण हुए बच्ची की मौत के बाद पीड़ित परिवार को 25 लाख मुआवजा देने की मांग की है।

 शुक्रवार को सामाजिक कार्यकर्ता व हक ए हिन्दुस्तान मोर्चा के संयोजक तमन्ना हाशमी ने रधुनाथपुर, मधुवन स्थित 8 वर्षीय मृतका राधा के परिवार से जाकर मुलाकात की और अपनी संवेदना व्यक्त किया. तमन्ना हाशमी ने मृतक राधा के पिता को आर्थिक सहयोग भी किया. साथ ही साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे से पीडित परिवार को 25 लाख रूपया मुआवजा के रूप में देने की मांग की. उन्होंने सरकार से लापरवाही वाले इस पूरे मामले में न्यायिक जांच की मांग भी की. उन्होंने कहा की सरकार अगर इन मांगों को पूरा नहीं करती है तो उनका संगठन हक ए हिन्दुस्तान मोर्चा सड़क से लेकर सदन तक आंदोलन करने का काम करेगा।

बताते चलें कि बीते 1 जून को मुज़फ़्फ़रपुर सदर अस्पताल में कुढ़नी प्रखंड के रघुनाथपुर, मधुबन गाँव के निवासी संजय राम की 8 वर्षीय पुत्री राधा के गले में लीची का बीज फंस गया था जिसे निकलवाने के लिए वह अपनी बेटी को लेकर सदर अस्पताल गया था जहां कोरोना के नाम पर घंटों उसे दौडा़या गया जिसके दौरान मासूम ने तड़प तड़प कर दम तोड़ दिया जिसके बाद इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हुआ।


Find Us on Facebook

Trending News