BIHAR NEWS : दो मासूम बच्चे की सौतेली मां और कंस बने मामा ने की बेरहम पिटाई, खौफ इतना कि पिता के घर कदम भी नहीं रखना चाहते

BIHAR NEWS : दो मासूम बच्चे की सौतेली मां और कंस बने मामा ने की बेरहम पिटाई, खौफ इतना कि पिता के घर कदम भी नहीं रखना चाहते

BEGUSARAI :- बेगूसराय में दो मासूम बच्चों के साथ किए गए बर्बरतापूर्ण करतूत ने मामा कंस के धार्मिक खिस्से की याद को एक बार फिर ताजा कर दी है। फिल्मों में  सौतेली मां की भूमिका  में दिखने वाली ललिता पवार और धार्मिक कथाओ में वर्णित मामा कंस के खिस्से भले ही सिनेमा के रील लाइफ का हिस्सा हों पर बेगुसराय में रियल लाइफ में यह कहानी एक बार फिर से दो मासूम भाई बहनों के साथ दोहराई गई है और ये कहानी अब पुलिस के फाइलों में भी दर्ज हो चुका है। बताते चलें कि मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सहजानंद नगर से सौतेली मा और मामा की प्रताड़ना के कारण घर से भागे दो बच्चे को पुलिस ने जब बरामद किया तो रोंगटे खड़े करने वाली सच्चाई सामने आई है। पूरा मामला मुफस्सिल थाना क्षेत्र की बताई जा रही है जहां दो मासूम बच्चों ने अपनी सौतेली माँ और अपने मामा पर आरोप लगाया है कि उसके साथ बेरहमी से पिटाई की जाती थी और उससे तंग आकर दोनो ने खोए हुए अपने मां की ममता और प्यार से दूर रह कर उसने अपने घर से भी दूर रहने का फैसला किया और घर से निकल गए।

पिता ने दर्ज कराई थी गुमशुदगी की शिकायत

बताते चलें कि लखीसराय के पिपरिया के रहने वाले शैलेन्द्र प्रसाद सिंह जोवर्तमान में बेगुसराय के मुफसिल थाना क्षेत्र के सहजानंद नगर में एक किराए के मकान में रहते है।  शैलेन्द्र सिंह ने मुफसिल थानां में चार अप्रैल को एक आवेदन देकर अपने  11 बर्षीय अपने लड़के लव कुमार और 9 बर्षीय अपनी लड़कीं अमृता कुमारीं के रहस्यमय तरीके से गायब होने का आरोप लगाया। दो बच्चोम के लापता होने की सुचना के बाद थाने की पुलिस हरकत में आई । तहकीकात के बाद पुलिस ने दोनों बच्चो को गुरुवार के दिन उसके सगी नानी के घर से बरामद कर लिया। बच्चों की बरामदगी के बाद जो सच्चाई सामने आई वो रोंगटे खड़ी करने वाली थी।

अपने घर जाने में लगता है डर, नहीं रखता है कदम

दोनों बच्चो ने बताया कि उनकी सौतेली माँ और मामा उसको तरह तरह से प्रताड़ित करते थे और उसकी अक्सर गंभीर पिटाई किया करते थे। जिसके डर से वो दोनों अपने घर से फरार हो कर नानी के यहाँ आ गए। जानकारी के मुताबिक बच्चे के शरीर मे  सौतेली मां और मामा के द्वारा दागे गए निशान मौजूद है । माँ और मामा के प्रताड़ना से दोनों बच्चे इतने डरे सहमे थे कि वो अपनी सौतेली माँ और मामा के घर के दहलीज पर पैर नही रखना चाहते। बच्चो ने बताया कि दोनों भाई बहन को तरह तरह से प्रताड़ित किया जाता था जिसके डर से वो घर से भाग गए थे। 

कस्टडी पर अब कोर्ट करेगी फैसला

इस संबंध में पुलिस पदाधिकारी नीरज कुमार ने बताया कि इस मामले में माँ और मामा द्वारा प्रताड़ित किये जाने का मामला सामने आया है । दो बच्चों के रियल लाइफ की इस कहानी को जानकर लोग उस मां और मामा को ललिता पवार और कंस मामा की संज्ञा दे रहे है । फिलहाल पुलिस दोनों बच्चो को कोर्ट में पेश करने की तैयारी कर रही है । वही कोर्ट के फैसले के बाद  मासूम बच्चे के भविष्य का फैसला होना है कि बच्चे कहां रहेंगें इसके जानकारी को लेकर जिलेवासी बेसब्री से इंतजार में है ।


Find Us on Facebook

Trending News