BIHAR NEWS : सोशल मीडिया पर बच्ची की शादी की तस्वीरों से मचा हंगामा, तीन जिलों में हुई जांच की हकीकत जानकर पुलिस भी रह गई हैरान

BIHAR NEWS : सोशल मीडिया पर बच्ची की शादी की तस्वीरों से मचा हंगामा, तीन जिलों में हुई जांच की हकीकत जानकर पुलिस भी रह गई हैरान

NAWADA : जिले के वारसलीगंज थाना क्षेत्र के मंजौर गांव की एक शादी की तस्वीर बहुत तेजी से वायरल हो रही थी। जिसके बाद ट्विटर पर घमासान मच गया है। ट्विटर पर इस मामले पर जिला प्रशासन के तमाम अधिकारी ने संज्ञान लेते हुए गांव का पड़ताल किया। और गांव पहुंचे जहां पर पूरे गांव के लोगों ने जिला प्रशासन को अवगत कराया कि यह बच्ची की शादी लगभग 1 माह पूर्व लखीसराय में हुई थी लड़की का नानी घर जमुई जिला के सिकंदरा थाना क्षेत्र के अकौनी गांव में है। मंजौर में लड़की का अपना घर है।लेकिन यहां कोई लोग नहीं रहते हैं। लेकिन बच्ची की उम्र जो दर्शाया जा रहा है वह बिल्कुल ही बेबुनियाद और गलत है। जो लोग ट्विटर पर पोस्ट किए हैं। उन लोगों पर f.i.r. होना चाहिए।

बता दें कि मंजौर गांव के निवासी पवन सिंह की पुत्री तनु कुमारी की शादी 1 माह पूर्व लखीसराय के मंदिर में हुई है। मंजौर में कोई भी शादी समारोह नहीं हुआ। इस मामले पर डीएम ने टीम गठित कर सदर एसडीओ डीएसपी व थाना प्रभारी को गांव भेजें जहां पर अधिकारी ने इस मामले पर जांच किए। गांव के लोगों ने उन्होंने गंभीरता से लेते हुए मामला की जांच की जहां पर यह जानकारी मिली कि मंजौर में किसी भी प्रकार की कोई शादी समारोह नहीं हुई है। गांव के लोगों ने बताया कि लड़की के पिता सूरत में रहकर मजदूरी का काम करते हैं वह नानी घर में शुरू से ही रही है।

जानकारी देते चले कि ट्विटर पर एक तस्वीर लगाया जाता है। जिसमें लिखा जाता है कि नवादा के एक बच्ची है। जिसकी शादी 8 वर्ष में हुई 28 साल का लड़का के साथ शादी हुआ है। इस मामले पर नवादा डीएम यशपाल मीना ने संज्ञान लिए और मामला की जांच कराएं अब यह पूरी मामला जमुई जिला पर चली गई है। अब जमुई जिला पता लगाएंगे कि आखिरकार लड़की की उम्र क्या सच्चाई है। लेकिन देखा गया कि प्रथम दृष्टि में गांव के तमाम लोगों ने यह साबित किया कि लड़की की उम्र जो सोशल मीडिया पर वायरल हुई है। वह बिल्कुल ही गलत है।

हालांकि इस मामले में सदर एसडीओ ने कहा कि ग्रामीण के अनुसार जो कहा गया उस मामला की भी हम लोग जांच कर रहे। जब हम लोग घर पर पहुंचे हैं कि घर पर ताला लगा हुआ है। गांव के लोगों ने बताया है कि गांव में काफी दिनों से ताला बंद है।

जमुई प्रशासन ने किया स्पष्ट नाबालिक नहीं है दुल्हन

मामले में डीएम यशपाल मीणा ने जमुई  जिला प्रशासन से भी बातचीत कर पूरे मामले की जांच की मांग की थी। जिसमें जमुई जिला प्रशासन ने इस शादी की जांच की है। जमुई प्रशासन की तरफ से सोशल मीडिया पर दुल्हन की उम्र आठ साल की बात को बिल्कुल गलत बताया गया है। नवादा प्रशासन की तरफ से एक विज्ञप्ति जारी कर यह बताया गया है कि दुल्हन के आधार कार्ड पर उसकी एक जनवरी 2002 दर्ज है, जिसके आधार पर उसे बालिक करार दिया गया है। बताया गया कि आधार कार्ड की सत्यता की जांच के लिए यूएडीएआई की वेबसाइट को खंगाला गया, जिसमें उसे सही पाया गया है। इस आधार पर सोशल मीडिया पर वायरल हुई शादी की तस्वीर बिल्कुल गलत साबित हुई है।


Find Us on Facebook

Trending News