मजदूरों की सेवा में जुटे पॉलिटिकल पार्टी के नेता,कोई भूखों को भोजन दे रहा तो कोई पैरों में पहना रहा चप्पल,वहीं JDU MLAअफसरों को कोस रहे

मजदूरों की सेवा में जुटे पॉलिटिकल पार्टी के नेता,कोई भूखों को भोजन दे रहा तो कोई पैरों में पहना रहा चप्पल,वहीं JDU MLAअफसरों को कोस रहे

PATNA: लॉकडाउन की वजह से परदेस में फंसे करीब पांच लाख से अधिक प्रवासी मजदूरों को अब तक बिहार लाया गया है।राज्य की सरकार स्पेशल ट्रेन के माध्यम से दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों की वापसी सुनिश्चित कर रही है।स्पेशल ट्रेन के माध्यम से जो लोग बिहार आ रहे हैं, उन्हें 14 दिनों के लिए क्वारंटीन सेंटर में रखा जा रहा है.वहां पर सरकार की तरफ से सारी सुविधाएं देने की बात कही जा रही।लेकिन अधिकांश जिलों से खबरें आ रही हैं कि मजदूरों को भरपेट भोजन भी नहीं मिल रहा।परेशान लोग सेंटर पर हंगामा कर रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ हजारो ऐसे लोग हैं जो दूसरे प्रांतों से पैदल या फिर दूसरी सवारी से अपने घर की तरफ बढ़ रहे हैं।उन प्रवासी मजदूरों की हालत देखकर सबका दिल पसीज जा रहा।

बिहार में इस साल विधानसभा का चुनाव होने हैं.लिहाजा तमाम राजनीतिक दल के नेता प्रवासी मजदूरों की सेवा में जुटे हैं.बिहार कांग्रेस की तरफ से प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने पटना के बाईपास इलाके में दूसरे राज्यों से लौट रहे बेबस मजदूरों के बीच खाद्य-सामाग्री वितरित किया।वहीं बीजेपी के वरिष्ठ नेता राजेन्द्र सिंह भी अपने जिले में दूसरे राज्य से पैदल लौट रहे मजदूरों के पैर में चप्पल पहनाया।सारे लोग अपना-अपना दायित्व का निर्वहन कर रहे हैं।वहीं जेडीयू भी अपने लोगों को मदद पहुंचाने को लेकर सरकारी अफसरों पर दवाब बना रही है।सभी पॉलिटिकल पार्टी के नेता अपने-अपने क्षेत्र में  मजदूरों की मदद में जुटे हैं.

सरकारी सिस्टम से परेशान हैं जेडीयू के विधायक

सत्ताधारी पार्टी जेडीयू के विधायक भी अपने लोगों की मदद नहीं मिलने से परेशान हैं।विधायक ददन पहलवान ने तो सरकारी अधिकारियों के तमाम दावों की पोल खोल कर रख दी। दरअसल उन्हें सूचना मिली थी कि उनके इलाके के सेमरी ब्लॉक के एकौना स्कूल में प्रवासी मजदूरों को बंद कर दिया गया है. इसकी सूचना पर जेडीयू विधायक ददन पहलवान खुद उस स्कूल पर पहुंचे तो वहां की स्थिति को देखकर चकरा गए .स्कूल के भीतर बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूरों को लाकर बंद कर दिया गया था और मुख्य द्वार पर ताला जड़ दिया गया था.

 वहां कुछ भी बताने के लिए कोई सरकारी कर्मी मौजूद नहीं था. इसके बाद विधायक जी ने अधिकारी को फोन लगाया और कहा कि आप लोग इन मजदूरों को कैदी बना दिए हैं? यह कैसी व्यवस्था है जहां बेबस मजदूरों को भिखारी बना दिया है आप लोगों ने? JDU विधायक ददन पहलवान ने फोन पर ही अधिकारियों को खूब हड़काया और कहा कि स्थिति में सुधार लाइए,आप लोग सरकार को बदनाम कर रहे हैं।


Find Us on Facebook

Trending News