नहीं सुधरेगी बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था! CM आवास से कुछ ही किलोमीटर दूर इस ठंडी में महिलाओं को ऑपरेशन कर खुले आसमान के नीचे छोड़ा

नहीं सुधरेगी बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था! CM आवास से कुछ ही किलोमीटर दूर इस ठंडी में महिलाओं को ऑपरेशन कर खुले आसमान के नीचे छोड़ा

पटनासिटी. बिहार के उपमुख्यमंत्री सह स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव लगातार बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था को सुधारने की कोशिश में लगे हुए हैं। तेजस्वी यादव लगातार अस्पतालों में आधी रात पहुंचकर भले ही छापेमारी कर रहे हैं, लेकिन उसका डर शायद डॉक्टरों में नहीं दिख रहा है, तभी तो डॉक्टर अस्पतालों में अपनी मनमानी चलाते हैं। मामला बिहार के किसी जिले का नहीं, बल्कि राजधानी पटना का है, जहां मुख्यमंत्री खुद बैठते हैं और उनकी पूरी की पूरी सरकार बैठती है। ठीक सरकार के नाक के नीचे डॉक्टरों की लापरवाही सामने आई है।

मामला है मुख्यमंत्री आवास से महज 15 किलोमीटर दूर सबलपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का, जहां के लापरवाह डॉक्टरों ने एक साथ दर्जनों महिलाओं को परिवार नियोजन का ऑपरेशन कर उसे जमीन पर ही लेटा दिया। तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि स्वास्थ्य केंद्र में खुले आसमान के नीचे बेड लगाया गया है, जिस पर बेड रॉल भी नहीं है और न ही चादर है। ठंड का समय है और ऐसे में मरीजों सहित उनके तीमारदारों को बिना बेड के ही सोने और बैठने के लिए जगह दी गई है। यह तो बात हो खुले आसमान के नीचे लगे बेड की है, लेकिन अंदर रूम की तस्वीर उससे भी बदतर है, जहां दर्जनों महिलाओं को परिवार नियोजन का ऑपरेशन कर उन्हें जमीन पर लेटा दिया जा रहा है, वो भी इस ठंड के दिनों में।

एक तीसरी दो बेड पर तीन ऑपरेशन किये मरीजों की है, जो दर्द से कराह रही है। उन तीनों को दो बेड पर लेटा दिया गया है, वो भी सिर्फ एक चादर के सहारे। बेड पर गद्दा तक नहीं लगाया गया है। अब आप इन तस्वीरो के देख समझ सकते है कि मरीजों के स्वास्थ्य के प्रति डॉक्टर कितनी लापरवाही है। हालांकि जब हमने कई मरीजों के तीमारदारों से इस मामले में जानना चाहा, तब उन्होंने यही कहा कि कोई व्यवस्था नहीं है। ऑपरेशन कर सभी को जमीन पर लेटा दिया जा रहा है।

बता दें कि दो दिन पहले खगड़िया प्राथमिक स्वास्थ के केंद्र से एक तस्वीर निकल सामने आई थी, जिसमें बिना एनेस्थीसिया दिए महिलाओं का ऑपरेशन कर दिया गया था और उन सभी महिलाओं को जमीन पर लेटा दिया गया था। इसके बाद महिला आयोग ने भी संज्ञान लिया था। अब वैसे ही तस्वीर राजधानी पटना के सबलपुर स्वास्थ्य केंद्र से आई है। इससे समझा जा सकता है कि बिहार में स्वास्थ्य व्यवस्था का क्या हाल है।

Find Us on Facebook

Trending News