बिहार देश का छठा राज्य बनेगा, जहां खेल विश्वविद्यालय शुरू हो रहा है : आलोक रंजन

बिहार देश का छठा राज्य बनेगा, जहां खेल विश्वविद्यालय शुरू हो रहा है : आलोक रंजन

PATNA : आज सेवा एवं समर्पण अभियान के तहत भाजपा प्रदेश कार्यालय के अटल सभागार में 'हमारा गौरव हमारा वैभव और युवा शक्ति' पर कला संस्कृति एवं युवा मंत्री आलोक रंजन एवं विधायक सह अंर्तराष्ट्रीय खिलाड़ी श्रेयसी सिंह का संबोधन हुआ। इस ई-सेमिनार में आलोक रंजन ने कहा कि बिहार युवा शक्ति वाला राज्य है। खेल मे कोई धर्म जाति नहीं होती। बिहार से झारखंड अलग होने बाद हम खेल में शून्य हो गये थे। लेकिन जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार बनी तब खेल पर हमने फोकस किया। प्रधानमंत्री का खेल के प्रति अभिरुचि है। उन्होंने कहा की 2013-14 मे खेल बजट 1129 करोड़ था, आज 3000 करोड़ है। आज ओलंपिक में भारत ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। हमारे खिलाड़ी सर्वाधिक मेडल जीतकर लौटे हैं। आज खिलाड़ी का खेल के प्रति आकर्षक बढ़ा है।

मंत्री ने कहा की बिहार मे खेल सह व्यायामशाला बन रहे हैं। सभी प्रमंडलीय मुख्यालय में इंडोर स्टेडियम होगा। बिहार जल्द देश का छठा राज्य बनेगा, जहां खेल विश्वविद्यालय राजगीर मे शुरू हो रहा है। उत्कृष्ट खिलाड़ी को सरकारी नौकरी देने के लिए राज्य सरकार ने नियम बनाये हैं। बिहार में  खिलाडी कल्याण कोष के माध्यम से मदद की पहल जा रही है। एनडीए सरकार कृतसंकल्पित है कि राज्य मे खेल कैसे आगे बढ़े। राज्य मे प्रस्तावित 41 आवासीय एकलव्य प्रशिक्षण केंद्र में 31 हमने शुरू कर दिया है। कलाकार कल्याण कोष से बिहार के कलाकारों को मदद की जा रही है। संग्रहालय का ज्ञान बिहार की पहचान बिहार मे  27 संग्रहालय हैं। बिहार ने अपनी पहचान को संजोने का बड़ा काम किया है।

श्रेयसी सिंह ने कहा कि बिहार की बेटी होने के नाते मैं अपने को विधायक से ज्यादा खिलाड़ी होने पर गर्व करती हूं। यह बड़ी बात है कि सुबह सुबह बिहार के युवा सड़क किनारे व खेल मैदानों में दौड़ते नजर आते हैं। बिहार के युवा हमेशा अवसर की तलाश मे लगे रहते हैं। मंच संचालन प्रदेश मंत्री अमृता भूषण ने किया। कार्यक्रम में  वरूण सिंह, प्रवीण राय पटेल, नीलांजला भट्टाचार्य, अमित ठाकुर, चंचल सिंह, अर्चना भट्ट,  सुमित श्रीवास्तव, आनंद पाठक उपस्थित रहे।

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News