भाजपा का कांग्रेस पार्टी पर हमला, कहा सिर्फ पिछड़े वर्ग के वोट लिए, उनके विकास के लिए कुछ नहीं किया

भाजपा का कांग्रेस पार्टी पर हमला, कहा सिर्फ पिछड़े वर्ग के वोट लिए, उनके विकास के लिए कुछ नहीं किया

PATNA : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने कहा है कि कांग्रेस ने सिर्फ पिछड़े वर्ग के वोट लिए, लेकिन दशकों तक उनके विकास के लिए कुछ नहीं किया। आज मोदी सरकार के 54 मंत्रालयों की अनेकों योजनायें सिर्फ गरीबों, पिछड़ों व आदिवासीयों के विकास व कल्याण के लिए हैं और हर योजना का पैसा उनके खाते में बिना किसी बिचौलिए के सीधा पहुँच रहा है। जनता के कल्याण हेतु पुरुषार्थ करना अध्यात्म का ही मार्ग है, पीएम मोदी इसी मार्ग पर चल रहे हैं। इतने दशकों तक दूसरी सरकारों ने गरीबों से कई वादे किए लेकिन किया कुछ नहीं। आज मैं गर्व से कह सकता हूँ कि प्रधानमन्त्री मोदी ने गरीब जनता को समाज में सिर उठाकर गरिमामय जीवन जीने का अधिकार दिया है। नीतिगत फैसले लेते समय मोदी जी ने कभी नहीं सोचा कि ये करने से हम चुनाव जीतेंगे या नहीं। मोदी की एक ही सोच रहती है कि इससे जो लाभार्थी है उसका कल्याण होगा या नहीं। नरेन्द्र मोदी राजनीति में किसी दल को जिताने नहीं देश की समस्याओं का समाधान कर विश्व में भारत को सम्मानजनक स्थान दिलाने आए हैं।

अरविन्द सिंह ने कहा कि तीन तलाक, धारा 370, GST, नोटबंदी ये सब बड़े फैसले सिर्फ नरेंद्र मोदी की दृढ़ इच्छाशक्ति से ही संभव हुए हैं। क्योंकि सत्ता में बने रहना मोदी का लक्ष्य नहीं है, उनका लक्ष्य है 'इंडिया फस्ट' गरीबों व वंचितों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाना, देश को पुनः विश्वगुरु बनाना। अब सेवा श्रम कानून में ऐतिहासिक सुधार से श्रमिकों को सशक्त बना रहा है। 29 श्रम कानूनों को अब 4 श्रम संहिताओं में मिला दिया गया है, 50 करोड़ श्रमिकों के लिए मजदूरी सुरक्षा, सामाजिक सुरक्षा और स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिश्चित हो रही है।

अरविन्द सिंह ने कहा की यूपीए के समय में देश हर क्षेत्र में नीचे की ओर जा रहा था। तब प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति से देश की अर्थ, रक्षा व विदेश नीति को नई दिशा दी। किसी ने कल्पना नहीं की थी कि भारत एयर व सर्जिकल स्ट्राइक करेगा। आज भारत विश्वशक्ति के रूप में उभर रहा है। मैंने नरेन्द्र मोदी जी जैसा श्रोता आज तक नहीं देखा सूना। किसी भी विषय पर बैठक हो मोदी सभी को धैर्यपूर्वक सुनते हैं, छोटे से छोटे व्यक्ति के सुझाव की गुणवत्ता के आधार पर वो महत्व देते हैं, और फिर उचित निर्णय लेते हैं। वे किसी पर अपनी निर्णय थोपने वाले नेता नहीं हैं।

Find Us on Facebook

Trending News