अग्निपथ बवाल मामला : उपद्रवी तत्वों पर हुई कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है बीजेपी, कहा सख्त कार्रवाई करें बिहार सरकार

अग्निपथ बवाल मामला : उपद्रवी तत्वों पर हुई कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है बीजेपी, कहा सख्त कार्रवाई करें बिहार सरकार

PATNA : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने बिहार सरकार से मांग किया है कि बिहार सरकार अग्निवीरो को सरकारी नौकरियों में प्राथमिकता दें। साथ ही जो उपद्रवी तत्व हैं उन पर सख्त कार्रवाई करें। अभी तक की कार्रवाई संतोषजनक नहीं है। वहीँ अरविन्द कुमार सिंह ने कहा है कि अग्निपथ किशोरावस्था में राष्ट्रभक्ति का ज्वार,अनुशासित जीवन का आचरण अंगीकार, रोजगार का भी अपार अवसर मिलेगा। 3000 अग्निवीर पहले साल में नेवी भर्ती करेगा, वेस्टर्न नेवी कमांडर ने इसकी जानकारी दी है। 3500 अग्निवीरों का चयन वायुसेना करेगी और बाकी 4000 हजार भर्तियां थल सेना में तत्काल होगी। 28 हजार से अधिक जवानों के पद बीएसएफ में खाली मौजूदा वक्त में है और 26 हजार से अधिक पद रिक्त सीआरपीएफ में है, इसे भी भरने की कवायद अग्निपथ द्वारा किया जाएगा। प्रशिक्षित युवाओं को उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा और मध्य प्रदेश के पुलिस भर्ती में इन्हें प्राथमिकता देने का भी मोदी सरकार ने एलान किया है। थल सेना, नौसेना और वायु सेना में 'अग्निपथ' योजना के तहत भर्ती होने वाले 'अग्निवीरों' को केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और असम राइफल्स में भर्ती में प्राथमिकता मिलेगी। इससे अर्थव्यवस्था के लिये एक उच्च-कुशल कार्यबल की उपलब्धता भी होगी जो उत्पादकता लाभ और समग्र सकल घरेलू उत्पाद (सकल घरेलू उत्पाद) की वृद्धि में सहायक होगा।


उन्होंने कहा की अग्निपथ आत्मनिर्भर भारत के लिए एक परिवर्तनकारी योजना है। सैनिक, वायुसैनिक और नाविक के पदों पर पूरे देश में मेरिट के आधार पर भर्ती होगी। ट्रेनिंग सहित 4 वर्ष का कार्यकाल होगा। 17.5 वर्ष से 21 वर्ष तक की आयु के युवा आवेदन कर सकते हैं। अग्नि वीरों की इस साल की भर्ती की आयु 21 से 23 वर्ष सरकार इस टाइम के लिए कर दिया है। किशोरावस्था में ही अनुशासित जीवन के आचरण के साथ अग्निपथ रोजगार की फैक्ट्री भी साबित होगी। केन्द्रीय बलों की भर्ती में अग्निवीरों को छूट सहित अन्य राज्य की पुलिस, विभिन्न विभागों के बहाली में भी अवसर मिलेगा।

अरविन्द ने कहा है कि जो लोग पूछ रहे हैं 4 साल बाद ' अग्निवीर ' क्या करेंगे..? 4 साल के  डिसिप्लिन और  स्किल्ड जीवन के बाद 24 साल की उम्र का व्यक्ति अन्य की तुलना में नौकरी पाने के लिए हमेशा एक बेहतर विकल्प होगा। 4 साल बाद ग्रृह मंत्रलय ने योग्य अग्निवीरों को CAPFs और असम राइफल्स में भर्ती में प्राथमिकता देने की बात कही है। 4 में से 1 को पक्की नौकरी करियर में समावेश का चांस क्या कम हैं ..? कितने लोगों के पास 21 से 24 साल के बीच 12 लाख की जमा पूँजी होती है? 4 साल बाद आप जैसे  स्किल्ड और  डिसिप्लिन अग्निवीर को कई बड़ी कंपनियों ने अपने यहाँ हायंर करने का ऐलान किया है। 4 साल में अग्निवीरों के लिए शुरू होगी ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स, देश और विदेश में इसकी मान्यता मिलेगी। 21 से 24 साल की आयु में लगभग 20 लाख की राशि जोड़ सकेंगे, 4 साल में 7-8 लाख की बचत और 12 लाख राशि केंद्र देगी। मैं पूछना चाहता हूं आप में से कितने लोग 24 साल में जीवन में सेंटल हो जाते हैं? 4 साल बाद कई राज्य सरकार जैसे - उत्तर प्रदेश , मध्य प्रदेश , उत्तराखंड , हरियाणा और असम ने अग्निवीरों को सेवा के उपरांत पुलिस व पुलिस के सहयोगी बलों में समायोजित करने में प्राथमिकता देने की बात कही है।उतना ही नहीं अग्निपथ से रोज़गार के अवसर बढ़ेंगे और चार साल की सेवा के दौरान प्राप्त कौशल और अनुभव के कारण ऐसे सैनिकों को विभिन्न क्षेत्रों में रोज़गार और सम्मान  मिलेगा। सरकार चार साल बाद सेवा छोड़ने वाले सैनिकों के पुनर्वास में मदद करेगी। उन्हें स्किल सर्टिफिकेट और ब्रिज कोर्स प्रदान किये जाएंँगे।


Find Us on Facebook

Trending News