कुढ़नी में भाजपा-जदयू की बढ़ेगी मुश्किलें, वीआईपी के नीलाभ के समर्थन में उतरा भूमिहार ब्राह्मण सामाजिक फ्रंट

कुढ़नी में भाजपा-जदयू की बढ़ेगी मुश्किलें, वीआईपी के नीलाभ के समर्थन में उतरा भूमिहार ब्राह्मण सामाजिक फ्रंट

पटना. कुढ़नी विधानसभा उपचुनाव में वीआईपी उम्मीदवार नीलाभ कुमार को भूमिहार ब्राह्मण सामाजिक फ्रंट ने समर्थन देने की घोषणा की है. फ्रंट की बुधवार को हुई बैठक के बाद इसकी घोषणा की गई. मुकेश सहनी की पार्टी वीआईपी ने नीलाभ कुमार को उम्मीदवार बनाया है जो भूमिहार जाति से हैं. कुढ़नी में भूमिहार मतदाताओं की प्रभावशाली संख्या है. ऐसे में फ्रंट के नीलाभ को समर्थन करने की घोषणा से वीआईपी को बड़ी मजबूती मिलने की संभावना है. 

फ्रंट के पदाधिकारियों ने बुधवार को कहा कि वीणा शाही, सुधीर शर्मा, डॉ श्यामनंदन शर्मा, धर्मवीर शुक्ला आदि उपस्थिति में भूमिहार ब्राह्मण सामाजिक फ्रंट ने नीलाभ को समर्थन देने का निर्णय लिया है. उन्होंने कहा कि फ्रंट का हमेशा से मानना रहा है कि जो हमारी जाति के लोगों को सम्मान देगा उसे हम सम्मान देंगे. फ्रंट ने इसके पहले भी बोचहाँ और मोकामा में अपनी ताकत का अहसास कराया था. एक बार फिर से हम कुढ़नी में फ्रंट की ताकत दिखाएंगे. नीलाभ को भूमिहार जाति के सभी मतदाताओं का समर्थन सुनिश्चित करने के लिए फ्रंट लगातार चुनाव प्रचार करेगा. 

दरअसल, कुढ़नी में भाजपा ने वैश्य समुदाय से आने वाले केदार गुप्ता को और जदयू ने मनोज कुशवाहा को उम्मीदवार बनाया है. भाजपा और जदयू दोनों भूमिहार वोटों को अपनी ओर आकर्षित करने की जुगत में लगे है. इस बीच मुकेश सहनी ने वीआईपी से भूमिहार नीलाभ को उम्मीदवार बनाकर दोनों दलों की चिंता बढ़ा दी है. अब भूमिहार ब्राह्मण सामाजिक फ्रंट के समर्थन करने से नीलाभ की ताकत और ज्यादा बढ़ जाने की संभावना है. 

कुढ़नी में भूमिहार सहित सवर्ण मतदाताओं की संख्या सबसे ज्यादा करीब 45 हजार है. वहीं कुल 3.11 लाख मतदाताओं वाले कुढ़नी में सहनी समाज के मतदाता करीब 25 से 30 हजार हैं. ऐसे में अगर इन दो जातियों ने नीलाभ को जमकर समर्थन कर दिया तो यह भाजपा और जदयू दोनों की मुश्किलें बढ़ाने वाला साबित हो सकता है. 


Find Us on Facebook

Trending News