BIG BREAKING: बीजेपी नेतृत्व के निर्णय से पार्टी के बड़े नेता नाराज, कहा- नेतृत्व का निर्णय समझ से परे...

BIG BREAKING: बीजेपी नेतृत्व के निर्णय से पार्टी के बड़े नेता नाराज, कहा- नेतृत्व का निर्णय समझ से परे...

पटना... सीएम हाउस में रविवार को एनडीए की बैठक हुई, जिसमें नीतीश कुमार को एनडीए का नेता चुन लिया गया। इधर बीजेपी प्रदेश कार्यालय में बीजेपी विधायक दल की बैठक आयोजित थी लेकिन बिना निर्णय के बैठक खत्म हो गई। बीजेपी विधान मंडल दल की बैठक नीतीश कुमार के सरकारी आवास पर हुई,जहां विधायक दल का नेता और उप नेता के नाम पर मुहर लगी। बीजेपी ने इस बार वैश्य और अति पिछड़ी जाति से आने वाले ऐसे नेताओं पर भरोसा जताया है जिनके बारे में बिहार के लोग ही नहीं जानते। तारकिशोर प्रसाद को विधायक दल का नेता और रेणु देवी को उप नेता चुने जाने से पार्टी के अति पिछड़ा समाज से आने वाले बड़े नेता नाराज हैं.

अति पिछड़े के बड़े नेता नाराज

भाजपा के एक बड़े नेता नेतृत्व के इस निर्णय को पचा नहीं पा रहे हैं। कहा तो यही जा रहा है कि बीजेपी ने जिसे सुशील मोदी की जगह पर विधायक दल का नेता चुनाव है वो उनके काफी करीबी हैं और वैश्य जाति से ही हैं.यानि कि बीजेपी विधायक दल का नेता एक वैश्य से लेकर दूसरे वैश्य को दे दिया गया। वहीं अति पिछड़ा नोनिया समाज से आने वाली रेणु देवी को कद उतना बड़ा नहीं है। ऐसे में अति पिछड़ा समाज से आने वाले कद्दावर नेता कहीं न कहीं नाराज हैं.विश्वस्त सूत्रों ने बताया कि नेतृत्व के इस कदम को वे उचित नहीं मान रहे. 

कोई फायदा नहीं मिलने वाला.....

पार्टी के कद्दावर और कई दफे से लगातार जीत कर आने वाले विधायक काफी नाराज बताए जा रहे हैं. वे कह रहे कि नेतृत्व के इस निर्णय से कौन सा भला होने वाला है,यह समझ परे की बात है। आखिर तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी को नेता और उप नेता बनाकर नेतृत्व क्या साबित करना चाहता है....। तारकिशोर प्रसाद की पहचाना अपने विधानसभा क्षेत्र के अलावे कहीं नहीं है,वहीं रेणु देवी का भी बिहार के अति पिछड़ों में कोई खास प्रभाव नहीं है. ऐसे में कोई फायदा नहीं होगा।उन्होंने कहा कि हमने अपनी बात नेतृत्व को बता दिया है।



Find Us on Facebook

Trending News