दलित को जलाकर मारने की धमकी देने में फंसे भाजपाई मंत्री, मामला दर्ज... विपक्ष ने पूछा- कार्तिक सिंह की तरह कब इस्तीफा देंगे BJP नेता

दलित को जलाकर मारने की धमकी देने में फंसे भाजपाई मंत्री, मामला दर्ज... विपक्ष ने पूछा- कार्तिक सिंह की तरह कब इस्तीफा देंगे BJP नेता

DESK. बिहार में नीतीश मंत्रिमंडल में शामिल कार्तिक सिंह ने अपहरण से जुड़े एक मामले में उनके खिलाफ चल रही अदालती कार्रवाई के बाद मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. कार्तिक के इस्तीफे के बाद भाजपा ने नीतीश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. लेकिन अब ऐसे ही एक मामले भाजपा से जुड़े एक मंत्री का नाम सामने आया है. भाजपा शासित कर्नाटक में पर्यटन, पारिस्थितिकी और पर्यावरण मंत्री आनंद सिंह के खिलाफ एक परिवार को कथित तौर पर धमकी देने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है. 

पुलिस के अनुसार मंत्री आनंद सिंह और तीन अन्य के खिलाफ डी पोलप्पा की शिकायत पर अनुसूचित जाति-जनजाति के खिलाफ अत्याचार निवारण अधिनियम और आईपीसी की धारा 504 और 506 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है. यह मामला जिले के एक गांव में एक समुदाय के सदस्यों और पोलप्पा के बीच चल रहे जमीनी विवाद से जुड़ा है. 

मंत्री के मंगलवार को गांव के दौरे के दौरान एक समुदाय के लोगों ने उनसे विवाद सुलझाने में मदद की गुहार लगाई है. पोलप्पा ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि मंत्री ने उनके पूरे परिवार को जलाने की धमकी दी थी. शिकायतकर्ता मंगलवार रात अपने पांच रिश्तेदारों के साथ होसपेट ग्रामीण थाने के पास पहुंचा. सभी ने आत्मदाह करने की कोशिश की. हालांकि, उन्हें बचा लिया गया और अस्पताल ले जाया गया. 

पुलिस के अनुसार पोलप्पा और पांच अन्य के खिलाफ आत्महत्या के प्रयास का मामला भी दर्ज किया गया है. वहीं इस मामले में आनंद सिंह के खिलाफ एससी-एसटी अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया. आनंद सिंह के खिलाफ मामला दर्ज होने पर अब कांग्रेस और जद-एस भाजपा पर हमलावर है. विपक्षी नेताओं ने कहा है कि एक ओर बिहार में कार्तिक सिंह प्रकरण में भाजपा के नेता नीतीश सरकार को नैतिकता का पाठ पढ़ा रहे हैं. जबकि कार्तिक सिंह ने विवाद सामने आने के बाद खुद ही इस्तीफा दे दिया है. वहीं दूसरी ओर भाजपा के मंत्री दलितों पर अत्याचार कर रहे हैं. यह भाजपा की कथनी और करनी का अतंर है. 



Find Us on Facebook

Trending News