नीति आयोग की रिपोर्ट के बहाने सुशील मोदी ने दिया सीएम नीतीश का साथ, कहा आयोग की रैंकिंग का आधार बदले तो बिहार होगा अव्वल

नीति आयोग की रिपोर्ट के बहाने सुशील मोदी ने दिया सीएम नीतीश का साथ, कहा आयोग की रैंकिंग का आधार बदले तो बिहार होगा अव्वल

PATNA : नीति आयोग की आयोग की रिपोर्ट पर विपक्ष का हमला झेल रही नीतीश सरकार का राज्यसभा सांसद और पूर्व उपमुख्यमंत्री बचाव में उतर गए हैं। उन्होंने कहा की दस साल पहले की परिस्थितियों का जिक्र किये बिना पुराने आंकड़े पर रिपोर्ट जारी करना उचित नहीं है। 

मोदी ने कहा की नीति आयोग यदि इस आधार पर कोई रैंकिंग रिपोर्ट जारी करे कि सड़क, बिजली, पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य, कानून-व्यवस्था और प्रति व्यक्ति आय जैसे मानकों पर किसी राज्य ने 10 साल में कितनी प्रगति की है, तो इसमें बिहार सबसे आगे होगा। आयोग को राज्यों से परामर्श कर विकास की गति मापने वाले नये पैमाने बनाने चाहिए। उन्होंने कहा की नीति आयोग की जिस रिपोर्ट का हवाला दिया जाता है, वह एक तो 2015-16 के छह साल पुराने आंकड़ों पर आधारित है। दूसरे वह रिपोर्ट देश के पंजाब-गुजरात जैसे सम्पन्न राज्यों, गोवा-उत्तराखंड जैसे छोटे राज्यों और बिहार-उड़ीसा जैसे पिछड़े राज्यों की भिन्न आर्थिक-भौगोलिक परिस्थितियों का कोई आकलन नहीं करती। 

सुशील कुमार मोदी ने कहा की नीति आयोग को आबादी, संसाधन और क्षेत्रफल जैसे आधार पर राज्यों का वर्गीकरण करना चाहिए। फिर प्रत्येक वर्ग की प्रगति का आकलन करते समय यह भी ध्यान रखना चाहिए कि दस साल पहले वह राज्य दस मुख्य मानकों पर कहां खड़ा था। राज्यों के आकलन नयी पद्धति विकसित होनी चाहिए।

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News