BJP कोटे के 'मंत्री' ने CM का गुणगान ऐसे किया....सर्वप्रिय-मनप्रिय-जनप्रिय-लोकप्रिय-अतिप्रिय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी...

BJP कोटे के 'मंत्री' ने CM का गुणगान ऐसे किया....सर्वप्रिय-मनप्रिय-जनप्रिय-लोकप्रिय-अतिप्रिय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी...

पटनाः मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज समस्तीपुर पहुंचे। सीएम ने पटेल मैदान से दहेज प्रथा एवं बाल-विवाह जैसी कुरीतियों के उन्मूलन तथा नशा मुक्ति को लेकर जनसभा को संबोधित किया। मंच पर नीतीश कैबिनेट के मंत्री विजय चौधरी, श्रवण कुमार,जीवेश मिश्रा, सम्राट चौधरी, सुनील कुमार व रामप्रीत पासवान भी मौजूद रहे। सीएम के संबोधन से पहले सभी मंत्रियों का भाषण हुआ। मंत्रियों ने सीएम नीतीश के समाज सुधार अभियान की जमकर प्रशंसा की। मंच से संबोधन में एक मंत्री द्वारा सीएम नीतीश की प्रशंसा में प्रिय शब्द की तुकबंदी काफी चर्चा में रही। 

तुकबंदी से चर्चा में आ गये मंत्री जी

वैसे तो समस्तीपुर में समाज सुधार अभियान में कई मंत्री शामिल हुए। सभी ने मंच से भाषण भी दिया और सीएम नीतीश कुमार का गुणगान किया। लेकिन श्रम संसाधन मंत्री जीवेश कुमार द्वारा सीएम नीतीश की प्रशंसा में जो तुकबंदी की वो चर्चा में आ गई। श्रम संसाधन मंत्री ने संबोधन की शुरूआत इस तरह से की......बिहार के सर्वप्रिय,मनप्रिय,जनप्रिय,लोकप्रिय,अतिप्रिय मुख्यमंत्री आदरणीय नीतीश कुमार जी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की प्रशंसा में प्रिय शब्द की तुकबंदी सुन सभी लोग मंत्री की तरफ देखने लगे। हालांकि राजनीतिक जानकार इसमें तरह-तरह के मायने भी निकाल रहे हैं.  

शराब पीने की इजाजत नहीं दे सकते

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हम शराब पीने की कभी भी इजाजत नहीं दे सकते। सीएम नीतीश ने कहा कि हमने सभी क्षेत्रों में काम किया। लड़कियों के लिए साईकिल योजना को देखने इंगलैंड समेत अन्य देशों की टीम देखने आई। अब तो हमको नहीं न याद रखना चाहता है .....बहुत लोग। वहीं सीएम नीतीश के भाषण को सुनने की बजाए आपस में बात कर रहे अफसरों पर सीएम नीतीश भड़क गये। मुख्यमंत्री ने यह भी ऐलान कर दिया कि अगर ताड़ से ताड़ी उतारने की बजाये नीरा का उत्पादन करेगा तो उस परिवार को एक लाख रू की आर्थिक मदद दी जायेगी।

नीरा बनाने पर मिलेंगे एक लाख रू की मदद

मंच से सीएम नीतीश नीरा के फायदे गिना रहे थे। वे कह रहे थे कि नीरा स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है जबकि ताड़ी नुकसानदायक। हम ताड़ से ताड़ी उतारने वाले परिवार को आर्थिक मदद देंगे।मंच पर बैठे अधिकारियों की तरफ मुड़ कर सीएम नीतीश ने देखा तो वे लोग आपस में बातचीत कर रहे थे। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सुन रहे हैं कि नहीं कि आपसे बात कर रहे हैं? हमरा बतवा सुन रहे हैं? अगर सुन रहे हैं तो आज हम ऐलान कर देते हैं कि ताड़ी की बजाए नीरा उत्पादन करने पर एक लाख रू की आर्थिक सहायता दी जायेगी।   

Find Us on Facebook

Trending News