भाजपा का आरोप : अपराधियों को खोजने की जगह जातिगत कार्ड खेलकर उन्माद फैलाना चाहते हैं सीएम नीतीश कुमार

भाजपा का आरोप : अपराधियों को खोजने की जगह जातिगत कार्ड खेलकर उन्माद फैलाना चाहते हैं सीएम नीतीश कुमार

BEGUSARAI : बीते मंगलवार को जिस तरह बाइक पर सवार बदमाशों बेगूसराय की सड़कों पर गोलीबारी की, उस पर जमकर राजनीति की जा रही है। जहां इस पूरी घटना को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साफ साफ कह दिया कि यह अल्पसंख्यकों और पिछड़ी जातियों के लोगों पर किया गया हमला है। ऐसे में उन्होंने इशारो में बता दिया कि इस घटना के पीछे किन लोगों का हाथ हो सकता है। वहीं अब भाजपा ने नीतीश कुमार के जातिगत कार्ड पर दिए गए बयान के बाद जवाबी हमला किया है। 

जातिगत उन्माद फैलाना चाहते हैं सीएम

बेगूसराय की घटना के बाद जिस तरह का बयान बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने दिया, उसके बाद बेगूसराय के सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने उनकी तुलना महाभारत के धृतराष्ट्र से कर दी है। उन्होंने लिखा है कि जंगलराज में मुसलमानों को गोली मार दी जाए तो नीतीश बाबू को दर्द होता है... सत्ता में बैठे धृतराष्ट्र को आम बिहारियों की जान की चिंता नहीं है। केंद्रीय मंत्री ने बिहार के सीएम को लेकर कहा कि नीतीश कुमार जिस तरह बेगूसराय में सीरियल फायरिंग को जाति से जोड़कर उन्माद फैलाने की कोशिश कर रहे हैं, उससे लगता है कि नीतीश कुमार ने ही फायरिंग करवाई है।

गोलीबारी में घायलों के नाम और जाति किया शेयर

पिछड़ी और अल्पसंख्यकों के इलाके में गोली चलाने वाले सीएम के बयान के जवाब में बेगूसराय सांसद ने सभी घायलों के नाम और उनकी जाति के बारे में पूरी जानकारी साझा की है और बिहार के सीएम से पूछा है कि इनमें से कौन पिछड़ा हुआ है, बिहार के मुख्यमंत्री बताएं। अपराधियों की गोली के कारण मारा गया युवक चंदन कुर्मी जाति से आता था। जबकि बाकि घायलों में कुछ राजपूत, कुछ भूमिहार, बनिया, रजक, यादव जाति के लोग शामिल हैं। 


Find Us on Facebook

Trending News