इस्तेमाल कर लोगों को छोड़ देना बीजेपी की आदत, चिराग पासवान और RCP इसका बड़ा उदाहरण

इस्तेमाल कर लोगों को छोड़ देना बीजेपी की आदत, चिराग पासवान और RCP इसका बड़ा उदाहरण

PATNA : मोकामा और गोपालगंज में कल वोटिंग की जानी है। जिसको लेकर महागठबंधन पूरी तरह से आश्वास्त नजर आ रही है। जदयू अध्यक्ष ललन सिंह ने साफ कर दिया है कि दोनों सीटों पर परिणाम बताएंगे कि आनेवाले चुनाव में बीजेपी का क्या हश्र होनेवाला है। 

मीडिया से बातचीत करते हुए ललन सिंह ने कहा कि बीजेपी ऐसी पार्टी है जो यूज एंड थ्रो में विश्वास करती है। 2020 के चुनाव में उन्होंने चिराग पासवान का इस्तेमाल किया। जब जरुरत पूरी हो गई तो उन्हे छोड़ दिया। आरसीपी सिंह की तरफ इशारा करते हुए ललन सिंह ने कहा कि भाजपा ने हमारी पार्टी में भी एक एजेंट छोड़ा था, आज वह सड़क की खाक छानते हुए नजर आ रहे हैं। उन्हें भी बीजेपी ने अपनी पार्टी में शामिल नहीं किया है। 

मोदी भी नहीं बचा पाए थे हार से

ललन सिंह ने कहा कि 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुल 42 सभाएं की। अमित शाह ने पूरा समय सारिणी भी जारी कर दिया था कि कब नीतीश जी इस्तीफा देंगे, कब भाजपा की सरकार बनेगी। लेकिन इतना करने के बाद भी सिर्फ 53 सीटों पर जीत मिली। महागठबंधन इतना मजबूत है कि इसे हराना बीजेपी के वश की बात नहीं है। वह सिर्फ अपनी जीत के दावे कर सकते हैं। परिणाम छह तारीख को सबके सामने होगा।

डा. संजय जायसवाल को बताया प्रखंड अध्यक्ष

ललन सिंह ने डा. संजय जायसवाल के द्वारा राजद के गोपालगंज प्रत्याशी को शराब माफिया बताए जाने पर कहा कि वह खुद राजद के प्रखंड अध्यक्ष रहे। राजद ने टिकट दिया तो अपनी जमानत भी नहीं बचा पाए। मैं एक प्रखंड अध्यक्ष की बातों को जवाब देना जरुरी नहीं समझता।


Find Us on Facebook

Trending News