बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • जदयू चिकित्सा सेवा प्रकोष्ठ ने पीएमसीएच में ओपीडी सहित अन्य सुविधाओं के उद्घाटन पर जताई ख़ुशी, कहा सीएम नीतीश के नेतृत्व में स्वास्थ्य सेवाओं का हो रहा विकास
  • जदयू चिकित्सा सेवा प्रकोष्ठ ने पीएमसीएच में ओपीडी सहित अन्य सुविधाओं के उद्घाटन पर जताई ख़ुशी, कहा सीएम

  • 28 फरवरी को सिवान आएंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, जिलाधिकारी और एसपी ने लिया कार्यक्रम स्थल का जायजा
  • 28 फरवरी को सिवान आएंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, जिलाधिकारी और एसपी ने लिया कार्यक्रम स्थल का जायजा

  • यूपी में क्रांस वोटिंग ने अखिलेश को दिया झटका, तीन की जगह राज्यसभा की दो सीटों से ही करना पड़ा संतोष, भाजपा के खाते में आठ सीट
  • यूपी में क्रांस वोटिंग ने अखिलेश को दिया झटका, तीन की जगह राज्यसभा की दो सीटों से ही

  • भाई के हर्ष फायरिंग का वीडियो वायरल होने पर बोले लोजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष, कहा विधि सम्मत कार्रवाई के लिए हैं तैयार
  • भाई के हर्ष फायरिंग का वीडियो वायरल होने पर बोले लोजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष, कहा विधि सम्मत कार्रवाई

  • तमिलनाडु में रालोमो की इकाई गठित, टी.एस दासप्रकाश बने अध्यक्ष, उपेंद्र कुशवाहा ने दी बधाई
  • तमिलनाडु में रालोमो की इकाई गठित, टी.एस दासप्रकाश बने अध्यक्ष, उपेंद्र कुशवाहा ने दी बधाई

  •  प्रदेश की आपसी सद्भाव को खत्म करना ही जन विश्वास यात्रा का लक्ष्य  : प्रभाकर मिश्र
  • प्रदेश की आपसी सद्भाव को खत्म करना ही जन विश्वास यात्रा का लक्ष्य : प्रभाकर मिश्र

  • नालंदा पहुंचे बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने इंडिया गठबंधन पर किया हमला, कहा 7 परिवारों ने अस्तित्व बचाने के लिए बनाया एलायंस
  • नालंदा पहुंचे बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने इंडिया गठबंधन पर किया हमला, कहा 7 परिवारों ने अस्तित्व बचाने

  • 45 साल की शादीशुदा महिला के प्यार में पागल था नाबालिग, जुदा होने का गम नहीं कर सका बर्दाश्त, दे दी जान
  • 45 साल की शादीशुदा महिला के प्यार में पागल था नाबालिग, जुदा होने का गम नहीं कर सका

  • नालंदा में बदमाशों ने चाकू से गोदकर की डॉक्टर के माँ की निर्मम हत्या, परिजनों ने जमीनी विवाद में घटना को अंजाम देने का लगाया आरोप
  • नालंदा में बदमाशों ने चाकू से गोदकर की डॉक्टर के माँ की निर्मम हत्या, परिजनों ने जमीनी विवाद

  • नालंदा में बेटी का इलाज कराकर घर लौट रहे दंपत्ति को अनियंत्रित ट्रक ने रौंदा, पत्नी के सामने ही पति और पुत्री की हुई मौत
  • नालंदा में बेटी का इलाज कराकर घर लौट रहे दंपत्ति को अनियंत्रित ट्रक ने रौंदा, पत्नी के सामने

पार्टी लाइन को लांघ गए BJP उपाध्यक्ष! जहरीली शराब से मौत पर मुआवजा के मुद्दे पर भाजपा में भारी मतभेद.अब क्या करेगा नेतृत्व

पार्टी लाइन को लांघ गए BJP उपाध्यक्ष! जहरीली शराब से मौत पर मुआवजा के मुद्दे पर भाजपा में भारी मतभेद.अब क्या करेगा नेतृत्व

PATNA : बिहार के सारण जिले में पिछले सप्ताह जहरीले शराब से हुए 70 से ज्यादा लोगों की मौत पर पटना से लेकर दिल्ली तक राजनीति की जा रही है। मारे गए लोगों को मुआवजा देने की मांग को लेकर भाजपा ने विधानमंडल के शीतकालीन सत्र में जमकर प्रदर्शन किया। ताकि सरकार पीड़ितों के परिवार के प्रति अपना नजरिया नरम कर सके। वहीं भाजपा के इस मांग को लेकर उनकी ही पार्टी में मतभेद उभर आया है। पार्टी का एक वर्ग मारे गए लोगों को परिवार को मुआवजा देने की मांग को गलत मान रहा है। इस वर्ग का कहना है कि इससे गलत संदेश जाएगा।

दरअसल, पिछले दिनों न्यूज4नेशन द्वारा 2016 में गोपालगंज के रोजरबिन्नी में शराब से मारे गए लोगों के परिवार को मुआवजा दिए जाने का खुलासा किया था. जिसके बाद मांग तेज हो गई 2016 में दिया तो अब क्यों नहीं। ऐसे में भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्षर राजीव रंजन ने पार्टी की मांग के विपरीत मुआवजे दिए जाने की मांग को गलत बता दिया है। हालांकि राजीव रंजन ने कहा कि यह उनका व्यक्तिगत नजरिया है कि इससे अपराधियों के हौंसले बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि कोई शख्स शराब पीता है तो यह सोच समझकर किया गया अपराधिक कृत्य है। यदि इसमें मुआवजा दिया गया तो कल हत्या और लूट जैसे घृणित अपराध करनेवाले अपराधी भी मुआवजे की मांग करने लगेंगे।

खजूरबन्नी के अधिकारियों पर हो कार्रवाई

राजीव रंजन यहीं पर नहीं रुके। उन्होंने कहा कि 2016 में खजूरबन्नी शराब सेवन से मारे गए लोगों के परिवार को मुआवजा देना गलत फैसला था। सरकार को चाहिए कि नियमों को तोड़कर खजूरबन्नी में मुआवजा देनेवाले अधिकार पर कार्रवाई करे।

भाजपा के लिए मुश्किल

राजीव रंजन के मुआवजे को लेकर जताए विरोध के बाद अब भाजपा नेतृत्व की मुश्किलें बढ़ गई है। जाहिर है कि जब पार्टी में इस मुद्दे पर एकमत नहीं है, तो राज्य सरकार को इसके लिए बाध्य करना कितना मुश्किल होगा।