भाजपा आज तय करेगी उपराष्ट्रपति उम्मीदवार का नाम, इन नामों को लेकर चल रहा मंथन

भाजपा आज तय करेगी उपराष्ट्रपति उम्मीदवार का नाम, इन नामों को लेकर चल रहा मंथन

DESK. 18 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति पद के चुनाव से पहले भाजपा संसदीय बोर्ड उपराष्ट्रपति पद के चुनाव में अपने उम्मीदवार के चयन के लिए शनिवार शाम को बैठक करेगा. इस बैठक में राष्ट्रपति चुनाव पर चर्चा होने की संभावना है. साथ ही मुख्य रूप से अगले उपराष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम को भी अंतिम रूप देने पर विमर्श होगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता इस बैठक में भाग लेंगे.

भाजपा ने राष्ट्रपति उम्मीदवार के रूप में द्रौपदी मुर्मू को उतारकर सबको चौंका दिया था. साथ ही जिस प्रकार के समीकरण बने हैं उससे यह भी तय है कि मुर्मू बड़ी ही आसानी से विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को मात दे सकती हैं. वहीं राष्ट्रपति चुनाव में भी अब भाजपा को चौंकाने वाले नाम तय करे तो आश्चर्य नहीं होगा. हालांकि माना जा रहा है कि पार्टी उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए अपने किसी अधिक अनुभवी नेता को चुनेगी.

उपराष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए कुछ नामों पर भाजपा खेमे में जोरदार चर्चा है. उसमें मौजूदा उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू को दोबारा उम्मीदवार बनाया जा सकता है. इसका बड़ा कारण नायडू का दक्षिण भारत से होना है. भाजपा इस समय दक्षिण भारत में संगठन को विस्तार देने की योजना पर काम रही है. इस महीने के आरम्भ में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक भी हैदराबाद भी हुई और चार नामित राज्यसभा सदस्य भी दक्षिण के चार राज्य से रहे. इसलिए नायडू के बहाने एक बार फिर से भावनात्मक रूप से दक्षिण को साधने की चाल भाजपा चल सकती है. नायडू आंध्र प्रदेश से आते हैं और उनका उपराष्ट्रपति का कार्यकाल भी गैर विवादित रहा है. 

वहीं जिन अन्य नामों पर चर्चा है उसमें भाजपा के वरिष्ठ नेता मुख्तार अब्बास नकवी को भाजपा की ओर से प्रत्याशी बनाया जा सकता है. नकवी को हाल ही में राज्यसभा के चुनाव में उम्मीदवार नहीं बनाया गया था और उन्होंने मोदी मंत्रिमंडल से भी इस्तीफा दे दिया है. ऐसे में उनके नाम की सर्वाधिक संभावना है. यह भाजपा के मुस्लिम समुदाय में जनाधार बनाने की रणनीति के रूप में भी देखा जा रहा है. इसके अलावा आरिफ मोहम्मद खान, कैप्टन अमरिंदर सिंह व नजमा हेपतुल्ला के नाम की भी चर्चा है. 

भाजपा इस बार भी अपने उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने के लिए मजबूत स्थिति में है. बावजूद इसके भाजपा किसी ऐसे नाम को सामने लाएगी जिससे एनडीए के अन्य घटक दल आसानी से समर्थन करे. साथ ही उम्मीदवार का नाम फाइनल करने के पूर्व जदयू जैसे सहयोगी दलों से भी चर्चा की जाएगी. देश के उपराष्ट्रपति को चुनने के लिए निर्वाचक मंडल में संसद के दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा के सदस्य शामिल होते हैं.

संसद में सदस्यों की मौजूदा संख्या 780 है, जिनमें से केवल भाजपा के 394 सांसद हैं, जबकि जीत के लिए 390 से अधिक मतों की आवश्यकता होती हैं मौजूदा उपराष्ट्रपति नायडू का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त होगा.  उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. नामांकन पत्र भरने की आखिरी तारीख 19 जुलाई और नाम वापस लेने की आखिरी तारीख 22 जुलाई है. ऐसे में यदि एक से अधिक उम्मीदवार चुनावी मैदान में रहे तो 6 अगस्त को चुनाव होगा और इसी दिन नतीजों की भी घोषणा कर दी जाएगी. संसदीय बोर्ड भाजपा की शीर्ष संगठनात्मक इकाई है और आज होने वाली बैठक में पीएम मोदी, पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा के अलावा केंद्रीय मंत्री अमित शाह, राजनाथ सिंह और नितिन गडकरी समेत कई अन्य नेता संसदीय बोर्ड में शामिल हैं.


Find Us on Facebook

Trending News