मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना बंद हुई तो विरोध करेगी भाजपा- प्रतुल शाहदेव

मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना बंद हुई तो विरोध करेगी भाजपा- प्रतुल शाहदेव

RANCHI : राज्य सरकार अपनी विफलताओं को छुपाने के लिए कल्याणकारी योजनाओं को बंद कर रही है. उक्त बातें भाजपा प्रदेश कार्यालय में प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कही. उन्होंने कहा कि जहां एक और सरकार किसानों के लिए लागत मूल्य से 150% मूल्य तथा कर्ज माफी का वायदा करके सत्ता में आई थी. वहीं दूसरी ओर किसानों को कर्जमुक्त और आत्मनिर्भर बनाने वाली कल्याणकारी योजना कृषि आशीर्वाद योजना को बंद करने की खबरें सामने आ रही है. ऐसा लगता है जैसे सरकार ने किसानों की बलि चढ़ाने का मन बना लिया है. उन्होंने आगे कहा कि कृषि आशीर्वाद योजना से 35 लाख किसानों को सीधा लाभ मिल रहा था और वह कर्जदार के होने के बजाय आत्मनिर्भर बन रहे थे. भाजपा सरकार का लक्ष्य इस योजना के माध्यम से अगले पांच वर्षों में उन्हें पूर्णरूपेण आत्मनिर्भर बनाने की थी. इस योजना के बन्द हो जाने से किसानों को एकबार फिर से महाजनों के गिरफ्त में जाने पर मजबूर कर दिया जाएगा. अगर भविष्य में ऐसा कुछ हुआ तो भाजपा किसानों के अधिकारों के लिए सड़क पर उतरेगी. 

वायदों को पूरा करने में अक्षम सरकार बहानेबाजी पर उतारू

पत्रकारों से बात करते हुए शाहदेव ने कहा कि जहाँ एक ओर रघुवर सरकार ने जन कल्याणकारी योजनाओं पर अधिकांश बजट   खर्च किया था. वहीं दूसरी ओर हेमंत सोरेन राजस्व वसूली के सबसे महत्वपूर्ण महीनों में दिल्ली दरबार में हाजिरी लगाते रहे. जिससे राजस्व वसूली का लक्ष्य बहुत पीछे रह गया. उन्होंने कहा कि बड़े-बड़े वायदे और घोषणाएं करके सत्ता में आई. लेकिन हेमंत सरकार अब बहानेबाजी करने पर उतारू है और अपने वायदों को जमीन पर उतारने की क्षमता हेमंत सरकार में नहीं है. इसलिए खजाना खाली का बहाना करके  जनता को दिग्भ्रमित कर रही है. 

टेंडर की निष्पक्ष जाँच का स्वागत

शाहदेव ने कहा कि हेमंत सरकार पूर्ववर्ती सरकार की निविदा टेंडर को रद्द कर रही है तथा पिछले पांच वर्षों में हुए निविदाओं की जांच करा रही है. भाजपा को इस जाँच से कोई आपत्ति नहीं है, क्योंकि भ्रष्टाचार पर भाजपा का जीरो टॉलरेंस है. लेकिन हेमंत सरकार को भी खुद को निष्पक्ष साबित करने के लिए इस जांच के दायरे में अपने पिछले 14 महीनों के कार्यकाल को भी जोड़ लेना चाहिए. ऐसा नहीं करके वह पूरे जांच के उद्देश्य को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं. 

उग्रवाद की आग में झारखंड को झोंक दिया है

शाहदेव ने नक्सली हमलों में हुए भारी वृद्धि पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि हेमंत सरकार बनते ही राज्य फिर से उग्रवाद की चपेट में आ गया है. पिछले डेढ़ महीनों में  राज्य में दर्जनों नक्सली वारदातें हुई. कल ही चंदवा रेलवे स्टेशन पर नक्सलियों ने बड़े पैमाने पर आगजनी की. साथ ही साथ लेवी वसूली के लिए फोन पर धमकी मिलनी भी शुरू हो गई है जिससे राज्य के सभी व्यवसायी एवं उद्योग जगत के लोग सशंकित है. 

बाबूलाल मरांडी के भाजपा में शामिल होने से संबंधित प्रश्न के जवाब में शाहदेव ने कहा कि बाबूलाल मरांडी एक कुशल संगठनकर्ता के साथ साथ राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री भी रहे हैं. उनके निर्णय के आलोक में पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व निर्णय लेगा. 

रांची से कुंदन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News