प्रशासन के नाक के नीचे हो रही है यूरिया का कालाबाजारी, अधिक कीमत पर खरीदने को मजबूर हैं किसान

प्रशासन के नाक के नीचे हो रही है यूरिया का कालाबाजारी, अधिक कीमत पर खरीदने को मजबूर हैं किसान

AURANGABAD : औरंगाबाद के रफीगंज में कृषि विभाग के कर्मचारियों की मिलीभगत से यूरिया की जमकर कालाबाजारी की जा रही है। बीती रात उर्वरक कालाबाजारी का मामला प्रकाश में आया है। जिसे किसानों ने बीती रात 10 बजें रफीगंज के ओम शांति खाद्य भंडार के विक्रेता राजू कुमार एवं शंकर खाध भंडार के विक्रेता रंजन कुमार को यूरिया की कलाबजारी करते किसानों ने रंगे हाथ पकड़ लिया है। जो 350 रुपये प्रत्येक बोरा बेचा जा रहा था। जिसकों लेकर किसानों ने रात्रि में ही जमकर बवाल किया है।जिसके कारण आसपास के कइ लोग एकत्रित होगये। 

इसी दौरान जाप के प्रदेश सचिव सन्दीप सिंह समदर्शी ने पहुंचकर लोगो को शांत कराया और बताया कि इन दिनों उर्वरक विक्रेता के द्वारा बड़े पैमाने पर काला बजारी किया जा रहा है। जबकि सरकार द्वारा निर्धारित मूल्य पर उर्वरक की उपलब्धता व आपूर्ति सुनिश्चित कराया जाना चाहिए था। 

लेकिन रफीगंज के दो खाद भंडार के मालिक जो अपने सगे भाई है और दोनों विक्रेता की शिकायत कई बार स्थानीय लोगो के द्वारा पदाधिकारियों को दिया गया हैं। फिर भी कार्रवाई शून्य है। जिसको लेकर किसानों ने जिला पदाधिकारी एवं जिला कृषि पदादिकारी से कालाबाजारी करने वाले उर्वरक विक्रेता के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का मांग की है।

Find Us on Facebook

Trending News