BPSC अभ्यर्थियों ने रोक लिया सीएम नीतीश कुमार का काफिला, मजबूर होकर मुख्यमंत्री को आना पड़ा उनके सामने, जानें क्या है पूरा मामला

BPSC अभ्यर्थियों ने रोक लिया सीएम नीतीश कुमार का काफिला, मजबूर होकर मुख्यमंत्री को आना पड़ा उनके सामने, जानें क्या है पूरा मामला

NEW DELHI : नई दिल्ली से वापस पटना लौट रहे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को तब मुश्किलों का सामना करना पड़ा, जब उनके काफिले को बीपीएससी के अभ्यर्थियों ने रोक दिया। सीएम नीतीश कुमार उस समय एयरपोर्ट के लिए रवाना हो रहे थे, लेकिन अभ्यर्थियों के विरोध के कारण उन्हें मजबूरी में अपनी गाड़ी से उतरना पड़ा और बीपीएससी के अभ्यर्थियों की समस्या के बारे में सुननी पड़ी।

सीएम को बताई परेशानी

67वीं बीपीएससी की परीक्षा आगामी 21 सितंबर को होनी है। जिसके लिए 14 सितंबर से एडमिट कार्ड अपलोड कर दिए जाएंगे। अभ्यर्थियों का कहना है कि बीपीएससी की परीक्षा ऐसे समय में ली जा रही है, जब यूपीएससी की मेन्स परीक्षा हो रही है और बड़ी संख्या में ऐसे अभ्यर्थी हैं. जो इस परीक्षा में शामिल हो रहे हैं। ऐसे में यह बीपीएससी की परीक्षा उसी समय होने के कारण यह अभ्यर्थियों के सामने समस्या यह है कि वह दोनों परीक्षा में किसी एक में ही शामिल हो सकते हैं। अभ्यर्थियों ने बताया कि हमने सीएम से मांग की है कि यूपीएससी के मेन्स परीक्षा के दौरान बीपीएससी परीक्षा आयोजित नहीं आयोजित हो। ताकि अभ्यर्थी दोनों परीक्षाओं में सम्मलित हो सकें।

सीएम ने कहा – मैं नहीं जानता था इसके बारे में

बीपीएससी की परीक्षा को लेकर अभ्यर्थियों की मांग पर सीएम ने बताया कि उन्हें इन तारीखों के बारे में जानकारी नहीं है कि दोनों परीक्षा आपस में क्लैश हो रही हैं। अभ्यर्थियों ने बताया कि सीएम ने हमें यह भरोसा दिया है कि वह पटना पहुंचने के बाद सबसे पहले इसकी जानकारी लेंगे। अगर परीक्षा की तारीख मिल रही है, तो उसे बदला जाएगा।

आयोग के अध्यक्ष पर जताई नाराजगी

बीपीएससी अभ्यर्थियों ने इस दौरान आयोग के अध्यक्ष अतुल प्रसाद के खिलाफ अपनी नाराजगी भी जाहिर की। उनका कहना था कि तारीखों के क्लैश की जानकारी होने के बाद भी उन्होंने इसमें बदलाव करना जरुरी नहीं समझा। बल्कि यह कहा कि छह लाख परीक्षार्थियों की चिंता अधिक है। तीन चार सौ अभ्यर्थियो के लिए वह तारीख नहीं बदल सकते हैं। उनका यह तर्क कहीं से भी सही नहीं है। 

Find Us on Facebook

Trending News