BREAKING NEWS: एक बार फिर चर्चा में भाजपा सांसद की ‘एंबुलेंस’, पहले बालू और अब शराब ढुलाई के लिए हो रहा इस्तेमाल

BREAKING NEWS: एक बार फिर चर्चा में भाजपा सांसद की ‘एंबुलेंस’, पहले बालू और अब शराब ढुलाई के लिए हो रहा इस्तेमाल

CHHAPRA: इस वक्त की बड़ी खबर बिहार के छपरा से सामने आ रही है, जहां बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी और उनके कारनामे चर्चा में है। दरअसल राजीव प्रताप रूडी के फंड से चलाई जा रही एंबुलेंस, जो कोरोना काल में भी खासा चर्चा का विषय थी, वह एक बार फिर विवादों में है। इस बार यह मामला ऐसा वैसा नहीं, बल्कि सीधे शराब की तस्करी से संबंधित है।

एंबुलेंस में मरीज की जगह मिली देसी शराब

मिली जानकारी के मुताबिक सांसद के फंड से चलाए जा रहे इस एंबुलेंस से इस बार शराब बरामद हुई है। छपरा की भगवानपुर बाजार पुलिस ने एंबुलेंस से 280 लीटर शराब के साथ ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है। ड्राइवर से पूछताछ करने के बाद उसे हिरासत में ले लिया गया। जिसके बाद डोरीगंज थाना क्षेत्र के कोटवा रामपट्टी पंचायत के मुखिया जयप्रकाश सिंह सहित दो नामजद और एक अज्ञात के विरुद्ध मद्य निषेध की धारा में मामला दर्ज कर लिया गया है। मामले में भगवान बाजार थानाध्यक्ष मुकेश कुमार झा ने बताया कि पुलिस द्वारा लगातार वाहन चेकिंग की जा रही है। सभी संदिग्ध वाहनों की सघन जांच की जा रही है। इसी क्रम में एंबुलेंस से देशी शराब बरामद हुई है।


शराब बरामदगी के मामले पर सांसद की सफाई

इस मामले पर सांसद रूड़ी ने कहा – ‘सांसद निधि से दी गई एंबुलेंस के संचालन की जिम्मेदारी संबंधित ग्राम पंचायत होती है। जिले में सांसद निधि से 40 एंबुलेंस ग्राम पंचायतों को दी गई है। जिसके संचालन की जिम्मेदारी संबंधित मुखिया व ग्राम सचिव की होती है। मंगलवार शाम में कोटवा रामपट्टी पंचायत एंबुलेंस से अवैध सामान ढोने की सूचना पर पुलिस प्रशासन ने त्वरित कार्रवाई करते हुए एंबुलेंस चालक, मुखिया सहित तीन अन्य लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है। त्वरित कार्रवाई के लिए प्रशासन बधाई के पात्र हैं।’ इस कृत्य पर सांसद ने दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

पहले से विवादों में रही है रूडी की एंबुलेंस

आपको बता दें कि पहला मामला नहीं है जब सांसद की एंबुलेंस विवादों में आई हो। इससे पहले साल 2020 में कोरोना काल में इस एंबुलेंस की चर्चा जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने की थी। कोरोनाकाल में जब एंबुलेंस और अस्पताल की कमी थी, तब पप्पू यादव ने सांसद राजीव प्रपात रूडी के घर से कई एंबुलेंस बरामद की थी। यह एंबुलेंस उनके घर में ही खड़ी थी, जिनका कोई इस्तेमाल नहीं लिया जा रहा था। इसी बीच एक वीडियो भी दिखा था, जिसमें इस रोगी वाहन से बालू की ढुलाई कराई जा रही थी। मीडिया में पप्पू यादव द्वारा बड़े खुलासे के बाद खुद बीजेपी सांसद सामने आए थे और अच्छी-खासी सफाई पेश की थी। यह गाड़ियां सांसद निधि से साल 2019 में खरीदी गयी थी। इसे पंचायतों में मुखिया को सुपुर्द किया गया था, ताकि ग्रामीण इलाकों से बीमार लोगों को स्वास्थ्य केंद्रों पर पहुंचाने में परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। हालांकि ऐसा होता नजर नहीं आ रहा है।

Find Us on Facebook

Trending News