BSEB ने मैट्रिक-इंटर में फेल परीक्षार्थियों को किया पास,कांग्रेस बोली- मुख्यमंत्री जी आपने तो 2 लाख छात्रों को पास करा लॉलीपॉप थमा दिया..

BSEB ने  मैट्रिक-इंटर में फेल परीक्षार्थियों को किया पास,कांग्रेस बोली- मुख्यमंत्री जी आपने तो 2 लाख छात्रों को पास करा लॉलीपॉप थमा दिया..

पटनाः बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने बड़ा निर्णय लिया है. बिहार बोर्ड ने इंटरमीडिएट एवं मैट्रिक परीक्षा 2020 में सम्मिलित वैसे विद्यार्थी जो एक या दो विषयों में फेल हो गए थे उन्हें पास करा दिया है। कोरोना वायरस के चलते कंपार्टमेंटल एग्जाम नहीं लिया जा सका उन परीक्षार्थियों को अतिरिक्त अंको का ग्रेस देकर उत्तीर्ण किया गया है. इस संबंध में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने शिक्षा विभाग को प्रस्ताव भेजा था जिस पर विभाग ने सहमति प्रदान कर दी है.

बिहार बोर्ड ने बताया है कि कोरोना संकट के बीच यदि अगले दो-तीन माह के बाद कंपार्टमेंटल परीक्षा का आयोजन किया भी जाता तो परीक्षा फल का प्रकाशन नवंबर या दिसंबर तक संभव था, जिस से संबंधित विद्यार्थियों को कंपार्टमेंटल परीक्षा में उत्तीर्ण होने का कोई लाभ नहीं मिल पाता. क्योंकि तब तक अधिकांश शिक्षण संस्थानों में नामांकन की प्रक्रिया पूरी हो जाती. ऐसी परिस्थिति में कंपार्टमेंटल परीक्षा आयोजन नहीं कर पाने से परीक्षा में शामिल होने की पात्रता रखने वाले विद्यार्थियों के भविष्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की संभावना थी.

नीतीश सरकार के फैसले पर कांग्रेस का सवाल

बिहार बोर्ड द्वारा बिना परीक्षा के ही करीब 2 लाख छात्रों को मैट्रिक और इंटर की परीक्षा पास किए जाने पर कांग्रेस ने सीएम नीतीश से सवाल पूछा है.बिहार युवा कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कुमार आशीष ने ट्वीट कर सवाल दागा है।उन्होंने कहा है कि चलिए बहुत बढ़िया हुआ नीतीश जी की 2 लाख छात्रों को पास करवा के उनको लॉलीपॉप थमा दिए, लेकिन वो 2 लाख छात्र एडमिशन कैसे लेंगे, जब हर जगह परसेंट के आधार पर संस्थान अलॉट किया जा रहा है ??? 2 लाख छात्रों कर भविष्य से ये खिलवाड़ नही है? उनके आगे के एड्मिशन की रूप रेखा भी तय कीजिये। 

बता दें कि आज शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा ने ग्रेस पाकर उत्तीर्ण हुए छात्रों की सूची जारी की है .पूरी सूची समिति की वेबसाइट पर उपलब्ध है. शिक्षा मंत्री ने इंटर में 72610 विद्यार्थी जो अतिरिक्त ग्रेस पाकर उत्तीर्ण हुए हैं उनकी सूची जारी की है. वही मैट्रिक में 1 लाख 41 हजार 677 विद्यार्थी अतिरिक्त देश पाकर उत्तीर्ण हुए हैं.

Find Us on Facebook

Trending News