झारखंड के विधायकों से नकदी मिलने का मामला : दिल्ली पुलिस ने बंगाल सीआईडी को छापे से रोका

झारखंड के विधायकों से नकदी मिलने का मामला : दिल्ली पुलिस ने बंगाल सीआईडी को छापे से रोका

DESK. पश्चिम बंगाल सीआईडी ने बुधवार को दावा किया कि दिल्ली पुलिस ने कथित तौर पर उसके एक दल को राष्ट्रीय राजधानी में, नकदी जब्त होने के मामले में गिरफ्तार झारखंड के तीन विधायकों में से एक से जुड़ी संपत्ति पर छापेमारी करने से रोक दिया। 

झारखंड के कांग्रेस के तीन विधायक इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन बिक्सल कोंगारी जिस कार में यात्रा कर रहे थे, उसमें से 49 लाख रुपये जब्त होने के बाद पश्चिम बंगाल पलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। 

सीआईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ''बुधवार सुबह दिल्ली पुलिस ने पश्चिम बंगाल अपराध जांच विभाग (सीआईडी) की एक टीम को झारखंड के विधायकों से नकदी जब्त होने के मामले में एक आरोपी से जुड़ी संपत्ति पर छापेमारी करने से रोक दिया।' अधिकारी ने कहा, ''वे नकदी जब्त होने के मामले की जांच से सिलसिले में दिल्ली गए थे। इस तरह रोका जाना पूरी तरह से अवैध है।'


पश्चिम बंगाल में तीन विधायकों के पास से नकद जब्त होने के बाद कांग्रेस ने अपने तीनों विधायकों को पार्टी से निकाल दिया था. कांग्रेस ने भाजपा पर आरोप लगाया है कि झारखंड में हेमंत सोरेन के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार को गिराने के मकसद से कांग्रेस के तीनों विध्य्कों के साथ मिलकर साजिश रची गई. इसमें असम के मुख्यमंत्री को भी निशाने पर लिया गया है और उन्हें साजिशकर्ता के रूप में पेश किया गया. हालांकि उन्होंने कांग्रेस के आरोपों को सिरे से नकार दिया. 


Find Us on Facebook

Trending News