बिहार विधानसभा में अवैध बहाली के आरोप पर सदानंद सिंह ने दी सफाई, कहा- मेरे विरुद्ध निगरानी की चार्जशीट राजनीति से प्रेरित

बिहार विधानसभा में अवैध बहाली के आरोप पर सदानंद सिंह ने दी सफाई, कहा- मेरे विरुद्ध निगरानी की चार्जशीट राजनीति से प्रेरित

PATNA: कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता एवं बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष सदानंद सिंह ने विधानसभा में बहाली में हुई अनियमितता को लेकर निगरानी के द्वारा चार्जशीट को लेकर अपनी सफाई दी है। सदानंद सिंह ने प्रेस रिलीज जारी कर कहा कि मेरे कार्यकाल में हुई नियुक्तियों के लिए निगरानी के द्वारा मेरे विरुद्ध चार्जशीट दायर करने की बात राजनीति से प्रेरित है। उन्होंने कहा कि विधानसभा की नियुक्ति में अनियमितता का मेरे उपर लगाए गए सभी आरोपों को पटना हाईकोर्ट पहले ही खारिज कर चुका है।

सदानंद सिंह ने कहा कि बिहार विधानसभा सचिवालय के द्वारा लोकसभा चुनाव के बाद सभी अभियुक्तों के विरुद्ध अभियोजन की स्वीकृति आश्चर्यजनक रुप से दे दी गई। जिसके आलोक में मेरे सहित सभी के विरुद्ध आरोप पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया निगरानी द्वारा की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस आशय का अखबार में छपी खबर का मैं खंडन करता हूं।

उन्होंने कहा कि मेरे कार्यकाल में हुई नियुक्तियां बिहार विधानसभा सचिवालय नियमावली 1964 के प्रावधान एवं उसके द्वारा प्रदत्त अधिकार और शक्तियों के तहत की गई थी। बहाली में नियम की अनदेखी, भाई भतीजावाद आदि का मेरे उपर लगाए गए सारे आरोप मिथ्या, मनगढ़ंत एवं बेबुनियाद है। सदानंद सिंह ने कहा कि मुझे न्यायालय पर पूरा भरोसा है तथा विश्वास है कि न्याय अवश्य मिलेगा।

बता दें कि विधानसभा में कथित अवैध बहाली के मामले में निगरानी अन्वेषण ब्यूरो विधान सभा के पूर्व अध्यक्ष सदानंद सिंह सहित 41 के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करेगा। निगरानी ब्यूरो ने इसकी तैयारी पूरी कर ली है। विधानसभा सचिवालय ने भी चार्जशीट दायर करने की अनुमति दे दी है। मामला वर्ष 2000 से 2005 के बीच का है।


Find Us on Facebook

Trending News