नए साल पर CM नीतीश और उनके 30 मंत्रियों ने की अपनी संपत्ति घोषित, जानिए कौन है सबसे ज्यादा पैसे वाला

नए साल पर CM नीतीश और उनके 30 मंत्रियों ने की अपनी संपत्ति घोषित, जानिए कौन है सबसे ज्यादा पैसे वाला

PATNA : हर साल की तरह इस बार भी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनके 30 मंत्रियों ने नए साल के पूर्व संध्या पर अपनी चल अचल संपत्ति की घोषणा की है। बिहार सरकार ने इसे अपनी वेबसाइट पर जारी किया। यह संपत्ति की जानकारी वित्तीय वर्ष 2020-21 का ब्योरा है।

सीएम से ज्यादा अमीर उनका बेटा

मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए ब्योरे के अनुसार, उनके पास कुल 75,36,626 रुपए की संपत्ति है। उनके पुत्र निशांत के पास 3,62,49,036 रुपए की संपत्ति घोषित की है। जबकि पिता की तुलना में 2 करोड़ 87 लाख 12 हजार 410 रुपये की ज्यादा संपत्ति उनके पुत्र निशांत के पास है। बताया गया ऐसा निशांत के पैतृक संपत्ति के कारण है। घोषित जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री के पास 16,51,626 रुपए की चल संपत्ति है। अचल संपत्ति 58,85,000 रुपए की है। उनके नाम पर संसद विहार को-ऑपरेटिव ग्रुप हाउसिंग कॉलोनी (द्वारका, दिल्ली) में एक फ्लैट है। उनके पास 13 गाय, उसके 9 बच्चे हैं। 13 हजार रुपए की एक्सरसाइज साइकिल है। उनके संपत्ति के ब्योरे में चाराकल, माइक्रोवेव ओवन, ओटीजी, वाशिंग मशीन के दाम भी दर्ज हैं। निशांत की चल संपत्ति 1,63,79,422 रुपए तथा अचल संपत्ति 1,98,69,614 रुपये की है। नीतीश कुमार के पास 29,385 रुपए नकदी है, तो निशांत के पास 16,549 रुपए।

पिस्टल और रायफल भी रखती हैं डिप्टी सीएम रेणु देवी

बात अगर बिहार के डिप्टी सीएम रेणु देवी की करें तो उनके पास 25 लाख के गहने, एक पिस्टल और राइफल है।उनकी चल संपत्ति 42.46 लाख रुपए की है। अचल संपत्ति के रूप में बेतिया, फुलवारीशरीफ में जमीन और कोलकाता में 1800 वर्गफीट का मकान है। जबकि सूबे के दूसरे उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद के पास 2.50 लाख का गहना है। उनकी पत्नी के पास 20 लाख का गहना है। टोयोटा इनोवो, स्कोर्पियो, टाटा इंडिगो और बोलेरो है। पति-पत्नी की कुल संपत्ति 2.28 करोड़ है। जिलनमें चल संपत्ति 40.12 लाख की व अचल संपत्ति 1.88 करोड़ की है।  

राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री राम सूरत कुमार के पास ट्रक, बस, ट्रैक्टर, टोयोटा, इनोवा, मोटरसाइकिल, राइफल और पिस्टल है। 

ऊर्जा मंत्री के पास करोड़ों की संपत्ति

ऊर्जा, योजना एवं विकास मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव के पास नकदी 50 हजार तो उनकी पत्नी के पास 30 हजार नकदी है। विभिन्न बैंकों में एक करोड़ 27 लाख से अधिक पैसा जमा है। बॉंड, शेयर या अन्य तरह के वित्तीय संस्थानों में निवेश नहीं है। खुद के पास 15 ग्राम सोना तो पत्नी के पास 100 ग्राम सोना और 900 ग्राम चांदी है। सुपौल के मुरली में 30 लाख के खेती योग्य जमीन है। गैर कृषि योग्य भूमि नहीं है। सुपौल व मुरली में 58 लाख का व्यवसायिक मकान है।

सिर्फ अल्टो के मालिक हैं शिक्षा मंत्री

शिक्षा मंत्री विजय चौधरी के पास 32 लाख 67 हजार की चल संपत्ति और 67 लाख की अचल संपत्ति है। उनकी पत्नी के पास 35 लाख 19 हजार की चल और 73 लाख की अचल संपत्ति है। मंत्री के पास मारुति अल्टो 800 है, जिसकी कीमत एक लाख है। पत्नी के पास दस लाख 50 हजार के गहने हैं।


स्वास्थ्य मंत्री के खाते में 1.40 करोड़ जमा

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के बैंक के बचत खाता में 1.40 करोड़ रुपये जमा है, जबकि उनकी पत्नी के बैंक खाते में 45 लाख 80 हजार रुपये जमा है। मंत्री के पास कुल 1 करोड़ 54 लाख 59 हजार 399 रुपये की चल-अचल संपत्ति है। जबकि उनकी पत्नी के पास कुल 81 लाख 25 हजार 525 रुपये की संपत्ति है। इसके अतिरिक्त 90 लाख का एक फ्लैट भी उन्होंने अपनी पत्नी के नाम दिल्ली के द्वारिका में खरीद रखा है।इसके अतिरिक्त श्री पांडेय के पास नकदी 39 हजार रुपये तो उनकी पत्नी के पास 43, 500 रुपये है। उनके पास 215 ग्राम सोने के आभूषण तो उनकी पत्नी के पास 610 ग्राम सोने के आभूषण है। इन दोनों के पास मौजूद सोने की कीमत करीब 23 लाख रुपये है।पांडेय के पास एक टाटा सफारी गाड़ी है और एक राइफल भी है। 

संजय झा स्विफ्ट के मालिक  

जल संसाधन मंत्री संजय झा से अधिक संपत्ति की मालकिन उनकी पत्नी हैं। संजय झा के पास चल संपत्ति के रूप में 98 लाख 95 हजार 635 रुपये की संपत्ति है। उनकी पत्नी के नाम पर सात करोड़ 36 लाख 61 हजार 839 रुपये की संपत्ति है। इनमें उन दोनों के नाम विभिन्न बैंकों में जमा रकम, एलाआईसी, सोने चांदी व वाहन की खरीद में शामिल रकम शामिल है।

संजय झा के पास 180 ग्राम सोना तो उनकी पत्नी के पास 450 ग्राम सोना है। झा मारूति स्विफ्ट के मालिक हैं, जबकि उन्होंने दिल्ली में अचल संपत्ति में भी निवेश कर रखा है। श्री झा के पास 12 हजार रुपये नकद तो उनकी पत्नी के पास 24 हजार रुपये नकद रकम है। मंत्री संजय झा ने अपने परिवार के संयुक्त संपत्ति में हिस्सेदारी की भी घोषणा की है।

पशुपालन मंत्री के पास आठ करोड़ की अचल संपत्ति, मुंबई में करोड़ों का भवन

पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री मुकेश सहनी के पास एक करोड़ 31 लाख की चल संपत्ति और आठ करोड़ 34 लाख की अचल संपत्ति है। साथ ही इन पर एक करोड़ दस लाख का बैंक लोन भी है। मुंबई में इनका कॉमर्शियल भवन है, जिसकी अभी बाजार कीमत छह करोड़ 22 लाख है। मुंबई में एक प्लैट भी है। मंत्री की पत्नी के पास 51 लाख की चल और एक करोड़ 37 लाख की अचल संपत्ति है। पत्नी के पास 14.50 लाख के गहने हैं।

ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत राज पर नौ लाख का कर्ज

ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत राज रायफल व पिस्टल के शौकीन हैं। इनके पास एक रायफल तो एक पिस्टल है। मंत्री एक लाख से अधिक नकदी रखे हुए हैं। विभिन्न बैंकों में 18 लाख से अधिक जमा है। एक मोटरसाइकिल व एक पुरानी स्कॉर्पियो है। खेती व गैर कृषि भूमि पैतृक संपत्ति है। मंत्री पर नौ लाख से अधिक का कर्ज है।

30 एकड़ जमीन की मालकिन हैं शीला  

परिवहन मंत्री शीला कुमारी के पास नकदी 45 हजार है। बैंकों में तीन लाख 43 हजार से अधिक जमा है। दूसरे बचत खातों में साढ़े चार लाख जमा है। मंत्री के पास 16 लाख का गहना है। पति-पत्नी को मिलाकर मंत्री के पास 30 एकड़ खेती योग्य जमीन है जिसकी कीमत पौने तीन करोड़ है। जबकि गैर कृषि योग्य जमीन की कीमत लगभग दो करोड़ की है। एक करोड़ से अधिक कीमत का व्यवसायिक मकान है।  

नकदी रखने के शौकीन हैं जिवेश

श्रम संसाधन मंत्री जिवेश कुमार नकदी रखने के शौकीन है। हाथ में एक लाख से अधिक नकदी है। पति-पत्नी को मिलाकर 20 लाख से अधिक बैंकों में जमा है। म्यूचअल फंड, बांड, शेयर आदि में पति-पत्नी को मिलाकर 50 लाख का निवेश है। खुद 290 ग्राम सोना है जिसकी कीमत साढ़े सात लाख से अधिक है। जबकि पत्नी के पास 18 लाख से अधिक के सोने-चांदी हैं। चल संपत्ति में मंत्री के पास 32 लाख से अधिक तो पत्नी के पास 86 लाख से अधिक है। वहीं अचल संपत्ति लगभग ढाई करोड़ की है। पत्नी को मिलाकर मंत्री पर 72 लाख से अधिक की देनदारी है।  

मंत्री से अधिक धनी पत्नी

पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन से अधिक धनी उनकी पत्नी हैं। मंत्री के पास 24 हजार नकदी तो पत्नी के पास 40 हजार नकदी है। कुल चल संपत्ति में मंत्री के पास 63 लाख तो पत्नी के नाम पर 30 लाख से अधिक की संपत्ति है। एक स्कॉर्पियो व एक इनोवा है। खेती या गैर कृषि योग्य जमीन नहीं है। पत्नी के नाम पर  श्रीकृष्णानगर का मकान है। किसी तरह का कोई कर्ज बकाया नहीं है।

जमा की संपत्ति सबसे कम

अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमा खान के पास सिर्फ 62.17 लाख रुपए की संपत्ति है। कम संपत्ति में दूसरे नंबर पर मदन सहनी हैं। उनके पास 82.54 लाख की संपत्ति है। नीरज कुमार बबलू के पास 12.94 करोड़, मुकेश सहनी के पास 11.55 करोड़ तथा सम्राट चौधरी के पास 10.91 करोड़ की संपत्ति है। मंत्रियों की संपत्ति में उनकी पत्नियों की संपत्ति भी शामिल है।

एक करोड़ के कर्जे में है उद्योग मंत्री 

उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन पर एक करोड़ से अधिक का कर्ज है। ये कर्ज उन्होंने ग्रेटर नोएडा में केनरा बैंक और एक फाइनेंस कंपनी से लिए हैं। उनके पास नोएडा में डेढ़ करोड़ का एक फ्लैट और गाजियाबाद में दो करोड़ का दूसरा फ्लैट है। सुपौल में 20 लाख रुपए की विरासती संपत्ति है। वे 23 लाख की अचल संपत्ति के भी हकदार हैं।





Find Us on Facebook

Trending News