पति-पत्नी के राज में डॉक्टर-कारोबारी बिहार छोड़कर चले गए,हमारी सरकार बनी तो शेष बचे कारोबारियों को सम्मानित किया था....

पति-पत्नी के राज में डॉक्टर-कारोबारी बिहार छोड़कर चले गए,हमारी सरकार बनी तो शेष बचे कारोबारियों को सम्मानित किया था....

PATNA: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज भी चुनावी सभा को संबोधित कर रहे हैं। सीएम नीतीश की आज पांच चुनावी सभा है।पहली सभा शेरघाटी में आयोजित थी। सीएम नीतीश ने कहा कि हमारी काम से आप सब लोग परिचित हैं.इसलिए बहुत कुछ कहने की जरूरत नहीं। विरोधी लोग कुछ-कुछ बोलता है उस पर ध्यान मत दें।

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि पहले बिहार की क्या हालत थी। अपराध की क्या स्थिति थी।शाम होते ही कोई घर से बाहर नहीं निकलता था,सामूहिक नरसंहार होता था,रंगदारी होती थी,कितने व्यापारी और  डॉक्टरों को बिहार छोड़कर भागना पड़ा था।जब हमें काम करने का मौका मिला तो कानून का राज कायम किया। बिहार में जो कारोबारी उस समय रह गए थे जो डर कर भागे नहीं थे उन्हें जब हम सरकार में आये तो सम्मानित किया था। 

पति-पत्नी कुछ करा पाये?


नीतीश कुमार ने कहा कि 2005 में जब हमें काम करने का मौका मिला तो सबसे पहले हमने भागलपुर दंगा की जांच कराई और सजा दिलाई गई। पीड़ित परिवार को सरकारी मदद की गई। पति-पत्नी के राज में भागलपुर का दंगा हुआ लेकिन हमने उसकी जांच कराई और अल्पसंख्यकों को मदद दिलाई।हमने किस तबके के लोगों को मदद नहीं की। पति जेल गये तो पत्नी को गद्दी पर बिठा दिया लेकिन क्या महिलाओं के लिए कुछ किया? हमलोग जब सरकार में आये तो महिलाओं को पंचायतों में आरक्षण दिया। बच्चियों को पढ़ाने की पूरी कोशिश की,साइकिल योजना,पोशाक योजना की शुरूआत की।आज हाईस्कूल में लड़के-लड़कियों की संख्या बराबर हो गई।

प्रचार करने वाले करते रहें हमें काम करना है

सीएम नीतीश ने कहा कि हम काम करते हैं प्रचार नहीं करते। कुछ लोग प्रचार करते हैं,हमको कोई मतलब नहीं,मेरे बारे में तरह-तरह की बातें करते हैं उसका हम नोटिस नहीं लेते। मेरे लिए पूरा बिहार परिवार है लेकिन कुछ लोगों के लिए पत्नी बेटा-बेटी ही परिवार है।

Find Us on Facebook

Trending News