CM नीतीश ने कोरोना जांच की खोल दी पोल, हर दिन महज 6100 आरटीपीसीआर टेस्ट हो रहे,मंगल पांडेय के दावों की निकली हवा

CM नीतीश ने कोरोना जांच की खोल दी पोल, हर दिन महज 6100 आरटीपीसीआर टेस्ट हो रहे,मंगल पांडेय के दावों की निकली हवा

Patna: देश में कोरोना वायरस के मामलों के कम होने के आसार जल्द नजर नहीं आ रहे. बीते कई दिनों से संक्रमण के रोजाना 50 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल बैठक की.मुख्यमंत्रियों ने अपने-अपने राज्यों में कोरोना वायरस के हालात की जानकारी दी।पीएम मोदी की बैठक में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी शामिल हुए।पीएम मोदी के साथ बैठक में सीएम नीतीश ने उसकी भी पोल खोल दी जिसे स्वास्थ्य महकमा और स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय छुपाये बैठे थे।

सीएम नीतीश ने हीं स्वास्थ्य महकमे की खोल दी पोल

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री के साथ मीटिंग में कहा कि बिहार में अब तक 450 लोगों की मौत कोरोना से हुई है। राज्य का रिकवरी रेट 65 .43 फ़ीसदी है। पहले से जांच की संख्या अधिक होने से पॉजिटिव केसेस 7.5 प्रतिशत से घटकर 5% पर आ गया है। राज्य का मृत्यु दर 0.54 प्रतिशत है.अब तक कुल 1097252 लोगों के कोरोना संक्रमण की जांच की जा चुकी है। इसी के साथ मुख्यमंत्री ने आज स्वास्थ मंत्री मंगल पांडे के दावों की पोल भी खोल दी और तेजस्वी यादव के सवालों का जवाब भी दे दिया। दरअसल लगातार यह मांग की जा रही थी कि स्वस्थ्य महकमा बताए कि  ये जो जांच हो रही उसमे कितना RTPCR से और कितना एंटीजन टेस्ट की जा रही है।तेजस्वी यादव भी लगातार यह सवाल उठा रहे थे।लेकिन स्वास्थ्य मंत्री इसका जवाब नहीं दे रहे थे।वे तो एंटीजन टेस्ट को बढ़ाकर अपनी पीठ थपथपा रहे थे।


बिहार में सिर्फ 6100 आरटी पीसीआर टेस्ट

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री के साथ मीटिंग में यह खुलासा किया कि वर्तमान में बिहार में प्रतिदिन करीब 75000 सैंपल जांच की जा रही है। इनमें से 6100 आरटी पीसीआर मशीन द्वारा की जा रही है,जिसमें सरकारी जांच केंद्रों पर 490 और निजी जांच केंद्रों पर 1200 सैंपल के जांच किए जा रहे हैं। 4400 जांच ट्रू नेट मशीन द्वारा की जा रही है ।

Find Us on Facebook

Trending News