तोड़ी चुप्पी: कुढ़नी में करारी हार के बाद इस्तीफा मांगने पर भड़के CM नीतीश! मीटिंग में RJD के पूर्व MLA पर निकाली भड़ास

 तोड़ी चुप्पी: कुढ़नी में करारी हार के बाद इस्तीफा मांगने पर भड़के CM नीतीश! मीटिंग में RJD के पूर्व MLA पर निकाली भड़ास

Patna: पटना में आज जेडीयू राष्ट्रीय परिषद की बैठक हुई । परिषद की बैठक से पहले राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक हुई थी  शाम वाली बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी शामिल हुए। इस बैठक में ललन सिंह को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष निर्वाचित करने की विधिवत घोषणा की गई। पार्टी के पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने कई मुद्दों पर अपनी बात रखी। संगठन विस्तार से लेकर पार्टी को राष्ट्रीय दल का दर्जा कैसे मिले इसको लेकर भी CM नीतीश ने अपनी बात रखी। साथ ही राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह को जिम्मेदारी भी दी । वहीं कुढ़नी में JDU कैंडिडेट मनोज कुशवाहा की करारी हार पर भी  CM ने अपनी चुप्पी तोड़ी और कहा कि इसकी समीक्षा होगी।

जदयू सूत्रों ने बताया कि कुढ़नी उप चुनाव में करारी हार पर मुख्यमंत्री ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि इसकी पूरी समीक्षा होगी। जानकारी के अनुसार CM ने मीटिंग में कहा कि हमने कह दिया है कि सभी बूथों की लिस्ट मंगवाईये। जो वोट मिले हैं उसकी समीक्षा हो। कहां चूक रह गई तथा असंतोष रहा, इसकी पूरी पड़ताल करें।  या फिर सरकार की योजनाओं से लोगों में नाराजगी है या कोई कंफ्यूजन है, इन तमाम बातों की समीक्षा करें। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने RJD के पूर्व विधायक अनिल सहनी द्वारा उनके इस्तीफे की मांग पर भी आपत्ति जताई।उन्होंने पूर्व विधायक अनिल सहनी के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। नीतीश कुमार ने कहा कि आप लोग अखबारों में देखे हीं होंगे, हम से इस्तीफा मांगा जा रहा है। एक नेता जिसके पिता को हमने काफी सम्मान दिया। उसे भी हमने राज्यसभा भेजा, लेकिन जब वह एक स्कैम में फंस गया तो हमने इस्तीफा देने को कहा। लेकिन उसने इस्तीफा नहीं दिया। जब राज्यसभा रिन्यूअल की बात आई तो हमने फिर से राज्यसभा नहीं भेजा। इसके बाद वह राजद में गया और वहां से विधायक बना। लेकिन उसी स्कैम केस में सजा हो गई, लिहाजा विधायकी चली गई। अब वहां पर उपचुनाव हुए, जहां हम लोगों ने अपना प्रत्याशी दिया था। लेकिन हार हुई है,इसकी पूरी समीक्षा होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश उप चुनाव से लेकर एमसीडी, हिमाचल प्रदेश में चुनाव हारी है, लेकिन मीडिया में इसकी कोई चर्चा नहीं। सिर्फ कुढ़नी पर फोकस किया जा रहा है कि जेडीयू वहां से बुरी तरह से हारी है।

 बता दें, अनिल सहनी 2020 चुनाव में राजद के टिकट पर जीते थे। लेकिन 2022 में कोर्ट से सजा हो गई। लिहाजा उनकी विधायकी चली गई थी। खाली हुई सीट पर हुए उपचुनाव में नीतीश कुमार ने कुढ़नी सीट पर अपनी दावेदारी जताते हुए उक्त सीट को तेजस्वी यादव से ले लिया । वहां से मनोज कुशवाहा को उम्मीदवार उतारा । मनोज कुशवाहा की हार के बाद पूर्व विधायक अनिल सहनी ने नीतीश कुमार के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली थी। साथ ही इस्तीफा देने को कहा था। राजद के पूर्व विधायक ने यहां तक कह दिया था कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस्तीफा करें और तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनाएं।

Find Us on Facebook

Trending News