कांग्रेस ने खत्म कर दिया था ‘जीने का अधिकार’, मन की बात में पीएम मोदी ने याद दिलाई दमनकारी आपातकाल की

कांग्रेस ने खत्म कर दिया था ‘जीने का अधिकार’, मन की बात में पीएम मोदी ने याद दिलाई दमनकारी आपातकाल की

DESK. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात में देश को संबोधित करते हुए कहा कि वर्ष 1975 में इंदिरा गांधी की कांग्रेस सरकार ने आपातकाल लगाकर देश में आम लोगों के जीने के अधिकार को खत्म कर दिया था. उन्होंने आपातकाल की दमनकारी नीती को गिनाते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. पीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम की शुरुआत में कहा कि आज की पीढ़ी के नौजवानों से, 24-25 साल के युवाओं से, एक सवाल पूछना चाहता हूं और सवाल बहुत गंभीर है. लेकिन मेरे नौजवान साथियो, हमारे देश में एक बार ऐसा हुआ था. ये बरसों पहले 1975 की बात है. जून का वही समय था जब 'आपातकाल' लागू किया गया था. उस समय भारत के लोकतंत्र को कुचल देने का प्रयास किया गया था. देश की अदालतें, हर संवैधानिक संस्था, प्रेस, सब पर नियंत्रण लगा दिया गया था. Censorship की ये हालत थी कि बिना स्वीकृति कुछ भी छापा नहीं जा सकता था.

उन्होंने कहा कि भारत के लोगों ने लोकतांत्रिक तरीके से ही 'आपातकाल' को हटाकर, वापस, लोकतंत्र की स्थापना की. तानाशाही की मानसिकता को, तानाशाही वृति-प्रवृत्ति को लोकतांत्रिक तरीके से पराजित करने का ऐसा उदाहरण पूरी दुनिया में मिलना मुश्किल है.

उन्होंने कहा कि आज हमारा भारत जब इतने सारे क्षेत्रों में सफलता का आकाश छू रहा है, तो आकाश, या अंतरिक्ष इससे अछूता कैसे रह सकता है. बीते कुछ समय में हमारे देश में Space Sector से जुड़े कई बड़े काम हुए हैं. देश की इन्हीं उपलब्धियों में से एक है In-Space नाम की Agency का निर्माण.

पीएम मोदी ने कहा कि कुछ दिन पहले जब मैं In-Space के headquarter के लोकार्पण के लिए गया था, तो मैंने कई युवा Startups के Ideas और उत्साह को देखा. आज से कुछ साल पहले तक हमारे देश में, Space Sector में, Startups के बारे में, कोई सोचता तक नहीं था. आज इनकी संख्या 100 से भी ज्यादा है. चेन्नई और हैदराबाद के दो Startups हैं- अग्निकुल और स्काई रूट। ये Startups ऐसे Launch Vehicle विकसित कर रही हैं जो अंतरिक्ष में छोटे payloads लेकर जाएंगे. इससे Space Launching की कीमत बहुत कम होने का अनुमान है.


Find Us on Facebook

Trending News