कांग्रेस नेताओं ने केंद्र सरकार से की मांग, कहा वरिष्ठ नागरिकों को रेल भाड़ा में फिर से मिले रियायत

कांग्रेस नेताओं ने केंद्र सरकार से की मांग, कहा वरिष्ठ नागरिकों को रेल भाड़ा में फिर से मिले रियायत

GAYA : देशवासियों का लाइफ लाइन कहे जाने वाले भारतीय रेल वर्षो से वरिष्ठ नागरिकों को रेल किराया में मिलने वाले रियायत को कोरोना के समय बंद करने के बाद अभी तक फिर से शुरू नही करने से वरिष्ठ नागरिकों में भयानक आक्रोश है।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य सह क्षेत्रीय प्रवक्ता बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी प्रो विजय कुमार मिठू, पूर्व विधायक मो खान अली, जिला उपाध्यक्ष राम प्रमोद सिंह, बाबूलाल प्रसाद सिंह, युगल किशोर सिंह, शिव कुमार चौरसिया,रामाश्रय सिंह,उदय शंकर पालित, बाल्मिकी प्रसाद, जगरूप यादव, जितेंद्र यादव, मो समद, असरफ इमाम आदि ने कहा की विगत तीन वर्ष पहले कोरोना वायरस महामारी के समय रेल सेवा बंद होने के बाद जब फिर चालू हुआ तो वरिष्ठ नागरिकों को मिलने वाले रियायत को खत्म करने के साथ, साथ सभी पैसेंजर ट्रेनों को स्पेशल ट्रेन बना कर दुगना भाड़ा भी वसूला जा रहा है।

नेताओ ने कहा की कल केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से कांग्रेस सहित विपक्षी दलों के सांसदों द्वारा इसे उठाए जाने पर भी संसद में वरिष्ठ नागरिकों के रेल किराया में वर्षो से मिलने वाली रियायत को फिर से चालू करने की मांग को खारिज कर रेल यात्री सुविधा सब्सिडी में 40 हजार करोड़ देने की बात करते रहे। जबकि सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई सूचना में केवल छह माह में वरिष्ठ नागरिकों से 15 हजार करोड़ किराया में वसूला गया।

नेताओ ने कहा की एक ओर बढ़ती हुई कमरतोड़ महंगाई से आमजन बेहाल है, तो दूसरी ओर देश के वरिष्ठ नागरिकों को मिलने वाली रियायत खत्म करना , दोहरी मार है। नेताओ ने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और रेल मंत्री से अविलंब देश के सम्मानित बुजुर्गो ( वरिष्ठ नागरिकों ) को रेल किराया में वर्षो से मिलते आ रहे रियायत को शुरू करने की मांग की है।

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News