महंगाई पर कांग्रेस ने केंद्र के खिलाफ खोला मोर्चा, चिंतनीय अर्थव्यवस्था के लिए मोदी सरकार की नीतियां जिम्मेदार

महंगाई पर कांग्रेस ने केंद्र के खिलाफ खोला मोर्चा, चिंतनीय अर्थव्यवस्था के लिए मोदी सरकार की नीतियां जिम्मेदार

DESK. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने देश में बढती महंगाई के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने रूस-यूक्रेन युद्ध को देश में बढती महंगाई का कारण बताया है जबकि इसका कारण केंद्र सरकार की नीतियां हैं. देश में जीडीपी की खस्ताहाल स्थिति है. 

उन्होंने शनिवार को कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति गंभीर चिंता का विषय है और पिछले आठ वर्षों में धीमी आर्थिक विकास दर केंद्र में सत्तारूढ़ नरेंद्र मोदी सरकार की पहचान रही है. पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि वैश्विक और स्थानीय घटनाक्रमों के मद्देनजर यह जरूरी हो गया है कि उदारीकरण के 30 साल के बाद अब आर्थिक नीतियों को फिर से तय करने पर विचार किया जाए. उन्होंने हालांकि कहा कि उनकी इस मांग का यह मतलब यह नहीं है कि कांग्रेस उदारीकरण से पीछे हट रही है, बल्कि उदारीकरण के बाद पार्टी आगे की ओर कदम बढ़ा रही है.

उन्होंने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति गंभीर चिंता का विषय है. पिछले आठ वर्षों में धीमी आर्थिक विकास दर केंद्र में सत्तारूढ़ नरेंद्र मोदी सरकार की पहचान रही है.’’ उन्होंने दावा किया, ‘‘महामारी के बाद अर्थव्यवस्था की स्थिति में सुधार बहुत साधारण और अवरोध से भरा रहा है. पिछले पांच महीनों के दौरान समय समय पर 2022-23 के लिए विकास दर का अनुमान कम किया जाता रहा है.’’

उन्होंने कहा कि महंगाई अस्वीकार्य स्तर पर पहुंच गई है और आगे भी इसके बढ़ते रहने की आशंका है. उनके मुताबिक, रोजगार की स्थिति कभी भी इतनी खराब नहीं रही. चिदंबरम ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के बकाये का उल्लेख करते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि केंद्र और राज्यों के बीच के राजकोषीय संबंधों की समग्र समीक्षा की जाए. उन्होंने कहा, ‘‘उदारीकरण के 30 वर्षों के बाद यह महसूस किया जा रहा है कि वैश्विक और स्थानीय घटनाक्रमों को देखते हुए आर्थिक नीतियों को फिर से तय करने के बारे में विचार करने की जरूरत है.’


Find Us on Facebook

Trending News