कांग्रेस पार्टी ने लगाया आरोप, कहा विशेष राज्य के दर्जा मुद्दे पर बेनकाब हुई जदयू की राजनीति

कांग्रेस पार्टी ने लगाया आरोप, कहा विशेष राज्य के दर्जा मुद्दे पर बेनकाब हुई जदयू की राजनीति

PATNA : कांग्रेस पार्टी के विधान परिषद सदस्य प्रेमचन्द्र मिश्रा ने राज्य के योजना विकास मंत्री के द्वारा की गई उस घोषणा को राज्य के लोगों के भावनाओं के साथ खिलवाड़ बताया, जिसमें विशेष राज्य के दर्जा मुद्दे से वापस हटने की बात कही गयी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का आरंभ से मानना था कि भाजपा- जदयू इस मुद्दे पर गंभीर नही है और जदयू इस मुद्दे पर सिर्फ राजनीति करती रही है और उसने पिछले एक दशक से बिहार की जनता को अंधेरे में रखने का काम किया है।

उन्होंने पूछा कि सत्ता में बैठे दल इस संबंध में अकेले निर्णय कैसे ले सकते हैं। जबकि बिहार के सभी राजनैतिक दलों ने विधानमंडल में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर विशेष राज्य के दर्जा की मांग की थी? उन्होंने पूछा कि मुख्यमंत्री के उन बातों का क्या हुआ जो लगातार सुनने को मिला करता था कि जो विशेष राज्य का दर्जा हमें देगा। हम उसके साथ जाएंगे तथा बिहार एक पिछड़ा राज्य है जिसके विकास और प्रगति के लिए विशेष राज्य का दर्जा अनिवार्य आवश्यकता है?

उन्होंने कहा कि इस प्रमुख मुद्दे से पीछे हटकर बिहार सरकार ने राज्य की जनता को ना सिर्फ निराश किया है बल्कि इससे यह भी प्रमाणित हो गया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनकी पार्टी ने विशेष राज्य के दर्जा मामले को लेकर अब तक सिर्फ राजनीति की है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार की उपेक्षा उन सभी महत्वपूर्ण मुद्दों पर की है जो बिहार विधानमंडल ने सर्वसम्मति से मांग की। लेकिन सत्ता में बने रहने के निहितार्थ के कारण जदयू अपनी हर मांग और अनुरोध ठुकराने के बावजूद भाजपा का साथ छोड़ने का साहस नही जुटा सका। उन्होंने पूछा कि आखिर जदयू की क्या मजबूरी है जो उसे उपेक्षा के बावजूद भाजपा का पिछलग्गू बने रहने पर मजबूर कर दिया है? उन्होंने बताया कि विशेष राज्य के दर्जा मामले में यू टर्न लेने पर मुख्यमंत्री को अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। महागठबंधन इस मुद्दे पर आम जनता के बीच जाएगी तथा भाजपा जदयू के द्वारा की गई धोखाधड़ी को बेनकाब करेगी।

पटना से विवेकानन्द की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News