कांग्रेस मुख्यालय पर ‘पुलिस हमले’ के खिलाफ देश भर में राजभवनों को घेरेगी कांग्रेस, गुरुवार को होगा आंदोलन, मोदी सरकार से हर जुल्म का लेगी हिसाब

कांग्रेस मुख्यालय पर ‘पुलिस हमले’ के खिलाफ देश भर में राजभवनों को घेरेगी कांग्रेस, गुरुवार को होगा आंदोलन, मोदी सरकार से हर जुल्म का लेगी हिसाब

DESK. कांग्रेस ने बुधवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार के इशारे पर दिल्ली पुलिस ने उसके मुख्यालय पर ‘हमला' बोला और कई नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि पुलिस के इस व्यवहार और जनता के हक में उठने वाली राहुल गांधी की आवाज को दबाए जाने के खिलाफ कांग्रेस बृहस्पतिवार को सभी राजभवनों का घेराव करेगी। 

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कांग्रेस के आरोप को खारिज करते हुए कहा कि पुलिसकर्मी कांग्रेस मुख्यालय के अंदर दाखिल नहीं हुए और न ही उन्होंने बल प्रयोग किया। सुरजेवाला ने संवाददाताओं से बातचीत में आरोप लगाया, ‘भाजपा और मोदी सरकार की पिट्ठू दिल्ली पुलिस गुंडागर्दी की हर सीमा पार गई। भाजपा के इशारे पर पुलिस दरवाजे तोड़कर कांग्रेस मुख्यालय में घुसी और नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को पीटा। अब लगता है कि प्रजांतत्र की हत्या हो चुकी है, संविधान को बुलडोजर के नीचे रौंद दिया गया है, केवल अत्याचार का शासन बचा है।' 

उन्होंने कहा, ‘हमारे सब्र का इम्तहान नहीं लें। किस हैसियत से पुलिस ने कांग्रेस मुख्यालय पर हमला बोला? वे कैसे कांग्रेस मुख्यालय में घुसकर नेताओं और कार्यकर्ताओं को पीट सकते हैं? इसका जवाब दिल्ली पुलिस और मोदी सरकार को देना पड़ेगा... इस घटना के लिए जिम्मेदार अधिकारी जान लें कि एक-एक अधिकारी का हिसाब होगा


सुरजेवाला ने कहा, ‘हमारी मांग है कि पुलिस अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए, उन्हें निलंबित किया जाए और उनके खिलाफ विभागीय जांच हो।' उनके अनुसार, ‘कल पूरे देश में कांग्रेस के लोग राजभवनों का घेराव करेंगे क्योंकि मोदी सरकार के इशारे पर यह सब हो रहा है... 17 जून को हर जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन होगा।' उन्होंने दावा किया, ‘‘महंगाई, बेरोजगारी के खिलाफ उठने वाली राहुल जी की आवाज को दबाया जा रहा है। किसानों, दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों के लिए उठने वाली राहुल जी की आवाज को दबाया जा रहा है।' कांग्रेस ने दिल्ली पुलिस के खिलाफ लगाए आरोप के पक्ष में एक वीडियो भी जारी किया है जिसमें कुछ पुलिसकर्मी एवं अन्य सुरक्षाकर्मी कांग्रेस मुख्यालय के अंदर जाते दिख रहे हैं। 

कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘ये संघर्ष है- सत्य की रक्षा के लिए, संविधान की रक्षा के लिए। भाजपा की तानाशाही हुकूमत और उस हुकूमत का क्रूर शासक कान खोलकर सुन ले- इस क्रूरता का करारा जवाब दिया जाएगा, हर जुल्म का हिसाब लिया जाएगा। लड़ाई जारी है।' पार्टी के सांसद कार्ति चिदंबरम ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस ‘निजी मिलिशिया' की तरह व्यवहार कर रही है। 

कांग्रेस मुख्यालय में घुसने के मुख्य विपक्षी दल के इस आरोप को खारिज करते हुए दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘हो सकता है कि कुछ धक्कामुक्की हुई हो, लेकिन पुलिस कांग्रेस कार्यालय के भीतर नहीं गई। पुलिस ने कोई बल प्रयोग भी नहीं किया।' उल्लेखनीय है कि राहुल गांधी से ईडी की पूछताछ को लेकर कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता पिछले तीन दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं।


Find Us on Facebook

Trending News