कोरोना को हराना है तो घरों में रहिए, स्टडी में किया गया दावा लॉक डाउन सख्ती से लागू हुआ तो कोरोना का हारना तय

कोरोना को हराना है तो घरों में रहिए, स्टडी में किया गया दावा लॉक डाउन सख्ती से लागू हुआ तो कोरोना का हारना तय

DESK : पूरी दुनिया के साथ ही भारत में भी कोरोना वायरस महामारी अपना विकराल रूप लेती जा रही है. देश में हर दिन बड़ी स्पीड से कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है, साथ ही कोरोना पॉजिटिव लोगों की मौत का ग्राफ भी हर रोज बढ़ रहा है.

कोरोना से इस लड़ाई के बीच देश के 548 जिलों में लॉकडाउन लागू कर दिया गया है. लोगों से घरों में रहने की अपील की जा रही है. ICMR (Indian Council Of Medical Research) की एक ताजा स्टडी में दावा किया गया है कि अगर सख्ती से घरों में रहने का ये फॉर्मूला सफल हो जाए तो कोरोना को बहुत हद तक हराया जा सकता है.

भारत में कोरोना वायरस अभी स्टेज 2 पर है और तीसरे स्टेज की ओर बढ़ रहा है. इस स्टेज में कोरोना कम्यूनिटी स्प्रेड होता है. यानी कोरोना वायरस का सामुदायिक संक्रमण. अगर ये होने लगा तो हालात बेकाबू हो जाएंगे.

ऐसी हर मुमकिन खतरे को भांपते हुए केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकारें सख्त हो गई हैं. लॉकडाउन और कर्फ्यू का रास्ता अपनाया जा रहा है ताकि लोग एक-दूसरे के टच में न आ सकें. ICMR की ताजा स्टडी भी इसी ओर इशारा कर रही है कि अगर सख्ती के साथ क्वारंटीन, होम स्टे जैसे फॉर्मूले को अपना लिया जाए तो इस वायरस के अनुमानित संदिग्ध केसों में 62 प्रतिशत तक गिरावट आ सकती है. साथ ही पीक केसों की संख्या 89 प्रतिशत तक गिर सकती है.

Find Us on Facebook

Trending News