खेल की दुनिया का अंधेरा! नाबालिक टेनिस प्लेयर के कोच ने किया दुष्कर्म, नेशनल खिलाड़ी बनाने का देता था झांसा

खेल की दुनिया का अंधेरा! नाबालिक टेनिस प्लेयर के कोच ने किया दुष्कर्म, नेशनल खिलाड़ी बनाने का देता था झांसा

JAIPUR : टेनिस की दुनिया में नाम कमाने के सपना देख रही 17 साल की नाबालिक किशोरी से उसी के कोच द्वारा रेप करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मामला राजस्थान के सबसे बड़े सवाई मानसिंह स्टेडियम (SMS) से जुड़ा है, जहां पीड़िता कोचिंग के लिए जाती थी। इसी दौरान कोचिंग और नेशनल खिलाड़ी बनाने का झांसा देकर कोच गौरांग नलवाया ने उसे अपनी हवस का शिकार बनाया। पिछले कुछ महीनों से बदनामी के डर से चुप्पी साध रखी दुष्कर्म की शिकार पीड़िता ने परिजनों को आपबीती बताई। तब उसके पिता ने सोमवार देर रात जयपुर के ज्योति नगर थाने पहुंचकर कोच के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज करवाया है। पुलिस ने टेनिस कोच गौरांग को नामजद कर उसकी तलाश शुरू कर दी है। 

जानकारी के अनुसार, पीड़िता जयपुर की रहने वाली है। वह टेनिस प्लेयर है और पिछले करीब एक साल से SMS स्टेडियम में कोच गौरांग नलवाया के पास टेनिस की कोचिंग करने जा रही थी। पीड़िता के पिता का आरोप है कि उनकी बेटी को कोच गौरांग ने अच्छी परफार्मेंस दिलवाने में मदद करने और टेनिस में आगे बढ़ाने का झांसा देकर नजदीकियां बढ़ाईं। उसे झांसा देकर जयपुर में दुष्कर्म किया। पीड़िता ने बताया कि जयपुर में दुष्कर्म करने के बाद टूर्नामेंट में खिलाने के बहाने कोच उसे उदयपुर भी ले गया और दुष्कर्म किया। पीड़िता ने अपने परिवार को दांस्ता बताते हुए कहा कि कोच उसे कहता था मैं बोलता हूं वो कर नेशनल खेलेगी। उसे कुछ समझ नहीं थी इसके चलते वो कभी कुछ बोल नहीं पाई। इसके बाद वे दोनों वापस आ गए।

बदले व्यवहार के बाद माता पिता को हुआ शक

खुद के साथ हुआ यौन शोषण की घटना के बाद के ही पीड़ित के व्यवहार में बदलाव नजर आने लगा, जिसके बाद उसके माता पिता को शक हुआ। उनके काफी पूछने टेनिस प्लेयर ने अपनी चुप्पी तोड़ी और कोच गौरांग द्वारा उसका देहशोषण करने की बात बताई। इससे परिजन भी सन्न रह गए। आखिरकार आरोपी के खिलाफ कार्रवाई के लिए थाने पहुंचे। थाना प्रभारी सरोज धायल मामले की जांच कर रही है। गौरांग को पकड़ने के लिए पुलिस दबिश दे रही है।

पुलिस ने माना और पूर्व में भी महिला खिलाड़ी हो सकती हैं शिकार

पुलिस ने बताया कि आरोपी गौरांग सन 2012 से टेनिस कोच है। उसे पकड़ने के लिए प्रयास जारी है। जिस तरह से उसने नाबालिक किशोरी से दुष्कर्म किया, इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि बीते नौ सालों में उसने दूसरी महिला खिलाड़ियों के साथ भी इस तरह की घटना को अंजाम दिया होगा। बहरहाल गौरांग के पकड़े जाने पर ही देहशोषण के पूरे मामले का खुलासा हो सकेगा।


Find Us on Facebook

Trending News