मॉब लिंचिंग में मौत! बैटरी चोरी के आरोप में धराया युवक, भीड़ ने बुरी तरह से पीटा, इलाज के दौरान तोड़ा दम

मॉब लिंचिंग में मौत! बैटरी चोरी के आरोप में धराया युवक, भीड़ ने बुरी तरह से पीटा, इलाज के दौरान तोड़ा दम

NAWADA: नवादा जिले के पकरीबरावां थाना क्षेत्र के गगंटी गांव में ट्रैक्टर की बैटरी चोरी के आरोप में मध्य रात्रि में एक युवक को लोगों ने पीट पीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। बाद में उपचार के दौरान युवक की मौत हो गई। पकरीबरावां पुलिस गुरुवार को शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल नवादा भेज दिया। 

घटना बुधवार की मध्य रात्रि की है। पकरीबरावां थाना में मृतक के पिता जमीर अख्तर के बयान पर प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया चल रही थी। मृतक सुदनपुर गांव निवासी जमीर अख्तर के 25 वर्षीय पुत्र आजन इमाम है। मृतक आजन इमाम पर ट्रैक्टर का बैटरी चोरी का आरोप था। 

मृतक के पिता ने लगाया हत्या का आरोप

घटना को लेकर मृतक के पिता जमीर अख्तर ने बताया कि आजन इमाम वेल्डिंग का उधारी पैसा मांगने गया था। तभी आरोपितों ने मेरे बेटे को अपने घर ले जा कर अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर ट्रैक्टर चोरी का इल्‍जाम लगाकर बुरी तरह लाठी, डंडा और राड आदि से पीट- पीटकर अधमरा कर दिया। पुलिस उसे इलाज के लिए हॉस्पिटल लेकर पहुंची, जहां सुबह होते ही मौत हो गई। बताया जाता है कि युवक को चोरी के आरोप में ग्रामीण ने पकड़ा था और जमकर पिटाई की थी। उसी दौरान युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस के द्वारा अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर युवक की मौत हो गई। हालांकि गांव के ग्रामीण कहते हैं कि इस गांव में लगातार चोरी की घटना हो रही थी और चोरी करते हुए युवक को पकड़ा गया है। हालांकि इसकी कोई पुष्टि नहीं हो रही है।

पूरे मामले पर पुलिस ने साधा मौन

पूरे मामले पर थाना प्रभारी मुंह दर्शक बने हुए हैं। कुछ भी कहने से इंकार कर रहे हैं। जब थाना प्रभारी से हमने फोन पर संपर्क करने की कोशिश की तो थाना में रखा फोन किसी ने उठाए और कहे कि बड़े बाबू नहा रहे हैं। पूरे इस मामले पर पुलिस चुप्पी साधी हुई है। कुछ भी बताने से इंकार कर रही है। हालांकि अभी जानकारी मिल रही है तो पुलिस के द्वारा चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है लेकिन इसकी कोई पुष्टि नहीं की जा रही है। थाना प्रभारी पर उठे सवाल क्या करती है पुलिस, इतनी बड़ी घटना होती है लगातार चोरी की घटना हो रही है।लेकिन पर्दाफाश नहीं होता है। थाना प्रभारी पर सवाल उठना लाजिमी है। हालांकि इस मामले पर हम ने पुलिस से फिर दोबारा फोन कर इस मामला की जानकारी हासिल करना चाहा। लेकिन उन्होंने फोन उठाना उचित नहीं समझा।

Find Us on Facebook

Trending News