लॉकडाउन के बाद फिर दोहराई गई पिछले साल की गलती, दिल्ली छोड़कर भागने लगे हजारों लोग

लॉकडाउन के बाद फिर दोहराई गई पिछले साल की गलती, दिल्ली छोड़कर भागने लगे हजारों लोग

NEW DELHI : एक तरफ नई दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल टीवी पर दिल्ली में रहनेवाले दूसरे प्रदेश के लोगों से अपील करते हैं कि वह दिल्ली छोड़कर कहीं न जाएं। दूसरी तरफ शाम होते ही नजारा बदल जाता है। सीएम की अपील के विपरीत बस स्टैंड में दिल्ली छोड़कर जानेवाले हजारों लोगों की भीड़ जमा हो जाती है। यह तस्वीरें 2020 की है।

लगभग इसी तरह की तस्वीरें एक साल बाद भी नई दिल्ली में नहीं बदली है। सीएम केजरीवाल की अपील और दूसरी तरफ बस स्टैंड में हजारों लोगों की भीड़, जो दिल्ली से अपनी जान बचाकर भागने की कोशिश कर रहे हैं। दिल्ली के आनंद विहार बस स्टैंड में तस्वीर वैसी ही नजर आ रही है, जैसा कि पिछले साल नजर आया था। अपने मासूम बच्चों को गोद लिए, कंधों और सिर पर भारी भरकम बैग लिए हवाई चप्पल पहने जो मज़दूर घर जाने के लिए मजबूर मजदूर और उनका परिवार। जहां कोरोना ने अपना वैरियंट बदल दिया, वहीं दूसरी तरफ कोरोना से बचाव को लेकर व्यवस्था में कोई सुधार नजर नहीं आया। जिस प्रकार 2020 में केजरीवाल सरकार के कथनी और करनी में फर्क नजर आया था, वही स्थिति इस बार भी नजर आई।

जैसे ही सीएम ने यह घोषणा की कि दिल्ली में सात दिन का लॉकडाउन लगाया जा रहा है, उसके बाद दिल्ली छोड़कर जानेवालों की जल्दबाजी एक बार फिर से उत्पन्न हो गई, ऐसा लगा कि यह सात दिन उनके लिए दिल्ली में भारी पड़ जाएंगे। बेताब लोगों के रेले का जो नज़ारा दिखा उससे यही एहसास होता है कि ये तबका एक तरफ कोरोना तो दूसरी तरफ भूख की खाई में फंस गया है. शायद ये सोचकर इस खाई से निकलना चाहता है कि कोरोना से मरें न मरें भूख जरूर मार डालेगी.



Find Us on Facebook

Trending News