डीजीपी ने महिला IPS अधिकारी को अपनी कार में बैठाकर लिया चुम्बन? फिर सुनाया गाना, गम्भीर आरोप से हिला महकमा

डीजीपी ने महिला IPS अधिकारी को अपनी कार में बैठाकर लिया चुम्बन? फिर सुनाया गाना, गम्भीर आरोप से हिला महकमा

डेस्क। एक महिला आईपीएस द्वारा अपने ही विभाग के डीजीपी पर उत्पीड़न का आरोप लगाया गया है। जिसके बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। मामला हाई कोर्ट पहुंच गया है, जिसके आदेश पर फिलहाल आरोपी डीजीपी को पुलिस मुख्यालय से हटा दिया गया है, वहीं पूरे मामले की जांच सीबी-सीआईडी को सौंप दी गई है। 

मामला तमिलनाडू से जुड़ा है।  तमिलनाडु में एक महिला आईपीएस अधिकारी ने स्पेशल डीजीपी पर गंभीर आऱोप लगाए हैं। वरिष्ठ अधिकारियों के पास पीड़िता आईपीएस अधिकारी ने जो शिकायत भेजी है उसमें कहा है कि डीजीपी ने त्रिची-चेन्नई हाईवे के पास कार में गाना सुनाकर उनकी हाथों को किस किया। इसके बाद उन्होंने जबरन गाड़ी को रुकवाया और उससे बाहर आ गईं। इतना ही नहीं शिकायत में यह भी कहा गया है कि उन्होंने उनके ससुर से कहा कि वो समझौता कर लें। 

सीएम के कार्यक्रम के दौरान हुई घटना

पीड़िता ने जो लिखित शिकायत दर्ज कराई है उसमें कहा है कि 21 फरवरी को मुख्यमंत्री की करूर जिले में यात्रा थी। इस दौरान वो बंदोबस्त ड्यूटी में लगी हुई थीं। शाम के वक्त जब मुख्यमंत्री का भाषण चल रहा था तब स्पेशल डीजीपी ने उनसे कहा कि वो अपनी गाड़ी में उन्हें वहां तक छोड़ देंगे जहां अगली मीटिंग होनी है। इसके बाद वो डीजीपी की गाड़ी में उन दो जगहों पर गईं जहां मुख्यमंत्री की बैठक होनी थी। इन सब के बीच में पीड़ित महिला अधिकारी ने अपने निजी सुरक्षा अधिकारी को आदेश दिया था कि वो डीजीपी की गाड़ी को फॉलो करे।

कार में गवाया गाना

2 बैठकों में शामिल होने के बाद महिला अधिकारी, डीजीपी के साथ उनकी गाड़ी में उस स्थान पर जा रही थीं जहां जाने के बाद अब उनकी ड्यूटी खत्म होने वाली थी। इसी दौरान स्पेशल डीजीपी ने उन्हें कार में रखे स्नैक ऑफर किये तथा तकिया भी दिया ताकि वो सिर रख कर रिलैक्स फील कर सकें। इसके बाद उन्होंने महिला अधिकारी को एक गाना गाने के लिए कहा। स्पेशल डीजीपी के जिद के बाद उन्होंने गाना गया।

डीजीपी की गलत नियत

 महिला अधिकारी के बाएं तरफ बैठे डीजीपी ने महिला अधिकारी की तरफ अपना दाहिना हाथ बढ़ाया और उनसे उनका हाथ बढ़ाने के लिए कहा। महिला अधिकारी को ऐसा लगा कि डीजीपी हाथ मिला कर उन्हें शाबाशी देना चाहते थे लेकिन फिर उन्होंने महिला अधिकारी से दूसरा हाथ भी बढ़ाने के लिए कहा। शिकायत के मुताबिक इसके बाद डीजीपी करीब 20 मिनट तक गाड़ी के अंदर गाना गाते रहे और फिर उन्होंने महिला अधिकारी को किस किया। जब महिला अधिकारी ने इसका विरोध जताते हुए गाड़ी से उतरने की कोशिश की तो डीजीपी ने मुस्कुराते औऱ उनका हाथ छोड़ दिया,लेकिन थोड़ी ही देर बाद उन्होंने फिर उनका हाथ पकड़ने की कोशिश की। जिसके बाद महिला अधिकारी ने दोबारा कहा कि वो ठीक नहीं है और वो अच्छा महसूस नहीं कर रही हैं। पीड़िता ने इस मामले में चेन्नई में पुलिस मुख्यालय में जाकर अपनी शिकायत दर्ज कराई थी। 

चेन्नई जाने से रोक

पीड़िता ने बातया कि अगले ही दिन जब वो डीजीपी और गृह सचिव से मिलने चेन्नई जा रही थीं तब स्पेशल डीजीपी ने उन्हें कई बार फोन किया। लेकिन जब उन्होंने फोन नहीं उठाया तब उन्होंने एक मैसेज भेज कर आग्रह किया कि वो फोन उठा लें। उन्होंने तीन आईपीएस अधिकारियों से बातचीत की और कहा कि वो उन्हें चेन्नई जाने से मना करें। शिकायत के मुताबिक Chengalpet के पुलिस अधीक्षक D Kannan ने चेन्नई जाने के दौरान रास्ते में उनकी गाड़ी को रोक दिया। उन्होंने उनके ड्राइवर और पीएसओ को गाड़ी से नीचे उतरने के लिए कहा और गाड़ी की चाबी निकाल ली। महिला आईपीएस अधिकारी ने शिकायत में लिखा कि D Kannan ने मुझसे कहा कि स्पेशल डीजीपी ने उनसे कहा है कि वो उनकी गाड़ी को रोकें। मैंने रास्ता छोड़ने की मांग की लेकिन वो रास्ते से नहीं हटे। D Kannan उनसे जिद कर रहे थे कि वो उनके फोन से स्पेशल डीजीपी से बात करें। लेकिन जब उन्होंने बात करने से इनकार कर दिया तब एसपी ने उनसे कहा कि उनको आगे जाने की अनुमति नहीं मिलेगी। 

गिड़गिराने लगे डीजीपी

महिला आईपीएस ने बताया कि अगले 5 मिनट के बाद उन्होंने स्पेशल डीजीपी का फोन उठाया। स्पेशल डीजीपी ने फोन पर सबसे पहले उनसे कहा कि मैं तुम्हारे पैरों में गिरकर अपने किये के लिए माफी मांगता हूं। जब उन्होंने कहा कि वो पुलिस फोर्स के चीफ से चेन्नई जाकर मिलना चाहती हैं इसलिए वो एसपी को कहें कि उनका रास्ता छोड़ दें। इसपर स्पेशल डीजीपी ने कहा कि यह संवाद रिकॉर्ड किया जा रहा है और इंटेलिजेंस ब्रांच के लोग भी सुन रहे हैं इसलिए मुझे बताना चाहिए कि क्या हुआ था। उन्होंने उस वक्त महिला अधिकारी से कहा कि मैं तुम्हारा दोस्त हूं। 

मै पीड़िता हूं और आप स्पेशल डीजीपी

फिर मैंने कहा कि हम दोस्त नहीं है। मैं पीड़िता हूं और आप स्पेशल डीजीपी। इसपर स्पेशल डीजीपी ने कहा कि मैं तुम्हारा भला चाहने वाला हूं और दोस्त हूं, मैं तुम्हारे पीछे आ रहा हूं, वहां आने के बाद हम बात करेंगे। पूरी घटना बताने के बाद स्पेशल डीजीपी ने एसपी को कहा कि वो उन्हें जाने दें। 

पीड़िता के ससुर से समझौता कराने की कोशिश

इसी दिन किसी ने स्पेशल डीजीपी की तरफ से उनके ससुर से बातचीत की और समझौता करने की बात कही। जिस शख्स ने उनके ससुर से बातचीत की थी उसने कहा था कि स्पेशल डीजीपी ने गलत व्यवहार किया है और वो इसके लिए महिला अधिकारी के पैरों में गिरकर माफी मांगने के तैयार हैं। इसके बाद उनके ससुर ने फोन काट दिया। 

अपनी शिकायत में महिला अधिकारी ने कहा है कि स्पेशल डीजीपी ने अपनी ताकत का गलत इस्तेमाल शुरू से ही उन्हें रोकने के लिए किया। उन्होंने मेरे परिवार के सदस्यों पर दबाव बनाया कि मैं अपनी शिकायत वापस ले लूं। पीड़िता ने इस मामले में प्रशासन से अपील की है कि जब तक जांच पूरी ना हो तब तक स्पेशल डीजीपी को मुख्यालय से हटाया जाए ताकि एक बड़े अधिकारी होने के नाते वो सबूतों से छेड़छाड़ ना कर सकें। इस मामले में फिलहाल सरकार ने आरोपी स्पेशल डीजीपी को उनके पद से हटा दिया है।

Find Us on Facebook

Trending News