दुर्गा पूजा और रावण दहन को लेकर डीएम, एसएसपी ने गाँधी मैदान का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए कई निर्देश

दुर्गा पूजा और रावण दहन को लेकर डीएम, एसएसपी ने गाँधी मैदान का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए कई निर्देश

GAYA : आज से प्रारंभ होकर 5 अक्टूबर तक चलने वाले दुर्गा पूजा के साथ विजयदशमी को आयोजित होने वाले रावण दहन कार्यक्रम की तैयारी को लेकर जिला पदाधिकारी गया डॉक्टर त्यागराजन एसएम एवं वरीय पुलिस अधीक्षक हरप्रीत कौर द्वारा संयुक्त रुप से गांधी मैदान का निरीक्षण किया गया। बैठक में दशहरा आयोजन समिति द्वारा बताया गया कि विजयदशमी की तिथि में रावण दहन कार्यक्रम के पहले गया रेलवे स्टेशन से दोपहर 2:00 बजे से शोभायात्रा प्रारंभ होता है, जो गोल पत्थर, जीबी रोड, काशीनाथ होते हुए संध्या 5:00 बजे के आसपास गांधी मैदान में पहुंचता है। शोभायात्रा में शामिल भगवान राम, सीता माता तथा अन्य देवी देवताओं का रूप बनाकर शोभायात्रा के शामिल लोग द्वारा रावण वध किया जाता है। उसके पश्चात संध्या 5:30 बजे के आसपास रावण दहन का कार्यक्रम प्रारंभ होते हुए 15 से 20 मिनट में समाप्त हो जाता है। उन्होंने बताया कि चुकी रावण वध का कार्यक्रम 2 वर्षों के बाद मनाया जा रहा है इसलिए लगभग 50 से 60 हजार लोगों के भीड़ होने की संभावना है।

जिला पदाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता भवन प्रमंडल को निर्देश दिया कि रावण दहन के पुतलो के बीच का रास्ता पूरी मजबूती से बेरीकटिंग करावे। ताकि कोई भी व्यक्ति उस रावण दहन के डी-एरिया में प्रवेश ना कर सके। जिला पदाधिकारी ने दसहरा आयोजन समिति को स्पष्ट निर्देश दिया कि आतिशबाजी का कार्य एक्सपर्ट व्यक्ति से ही करावे। इसके साथ ही पर्याप्त संख्या में सेंड बैग रखें। आतिशबाजी से संबंधित पूरी प्रिकॉशन को पालन करें। ताकि कोई भी छोटी से छोटी घटना ना हो सके।

जिला पदाधिकारी ने नगर आयुक्त को निर्देश दिया कि गांधी मैदान में रावण वध कार्यक्रम की स्थिति में अत्यधिक भीड़ एकत्रित होने की संभावना को देखते हुए पर्याप्त संख्या में हाई मास्ट लाइट तथा पर्याप्त रोशनी हेतु अन्य वैकल्पिक व्यवस्था करवाने का निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गांधी मैदान के अंदर जहां पर ही उबड़ खाबड़ रास्ता है उसे समतल करावे। इसके साथ ही गांधी मैदान से जितने भी एंट्रेंस वाले रास्ते हैं सभी स्थानों पर जंगल झाड़ को साफ करावे। उन्होंने कार्यपालक अभियंता भवन निर्माण विभाग को निर्देश दिया कि लोगों का भीड़ एक जगह एकत्रित ना हो तथा भीड़ को नियंत्रण के उद्देश्य से विभिन्न स्थानों पर वॉच टावर के साथ-साथ यथासंभव निरीक्षण करते हुए पूरी मजबूती बैरिकेडिंग करवाएं। उन्होंने कार्यपालक अभियंता बिजली विभाग को निर्देश दिया कि गांधी मैदान क्षेत्र के अंदर एवं बाहर जितने भी लूज वायर या जर्जर वायर हैं उसे हटाते हुए नए सिरे से वायर को बन्चिंग करें ताकि बिजली से संबंधित कोई भी समस्या ना उत्पन्न हो सके।

उन्होंने अनुमंडल पदाधिकारी सदर को निर्देश दिया कि क्राउड कंट्रोल पर पूरी नियंत्रित व्यवस्था हेतु कार्य योजना तैयार करें। इसके साथ ही पर्याप्त स्थानों पर पी एस सिस्टम भी लगवाए। भीड़ नियंत्रण हेतु कंट्रोल रूम का भी स्थापना करें। हर एक बिंदु पर सीसीटीवी कैमरा भी लगावे। इसके साथ ही एंबुलेंस तथा फायर ब्रिगेड की वाहन पूरी मुस्तैदी के साथ कार्य करें यह सुनिश्चित करावे। निरीक्षण के दौरान वरीय पुलिस अधीक्षक द्वारा बताया गया कि गांधी मैदान में कुल 9 गेट हैं। एंट्री एवं एग्जिट के लिए सभी गेटों को खोला जाएगा। इसके साथ ही सभी एंट्री पॉइंट पर मेटल डिटेक्टर मशीन भी लगाया जाएगा। उन्होंने नगर पुलिस अधीक्षक तथा उप विकास आयुक्त को निर्देश दिया कि सभी कुल 9 गेटों का भौतिक सत्यापन करते हुए सभी गेटों को फंक्शनल करावे। उन्होंने कहा कि क्राउड कंट्रोल मैनेजमेंट को अच्छे से रेगुलेट करना होगा। गांधी मैदान के परिधि में किसी भी व्यक्तियों का वाहन का परिचालन पूरी तरह बंद रहेगा। उन्होंने पुलिस उप अधीक्षक यातायात को रूट मैप तैयार कर उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। इसके पश्चात विभिन्न पदाधिकारियों द्वारा अनेक सुझाव दिए गए हैं जिस पर विचार करते हुए और बेहतर व्यवस्था कराने हेतु अनुपालन कराया जा रहा है। निरीक्षण के क्रम में नगर पुलिस अधीक्षक, नगर आयुक्त, उप विकास आयुक्त, अनुमंडल पदाधिकारी सदर, पुलिस उपाधीक्षक नगर, अपर समाहर्ता राजस्व सहित अन्य वरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News