सीतामढ़ी में फलदार पेड़ की हत्या की साजिश में जुटे डॉक्टर, जानिए क्या है पूरा मामला

सीतामढ़ी में फलदार पेड़ की हत्या की साजिश में जुटे डॉक्टर, जानिए क्या है पूरा मामला

SITAMARHI :  पर्यावरण एवं वन संरक्षण को लेकर सरकार जहां काफी गंभीर दिख रही है। लेकिन लोग इसे सिर्फ सरकारी डयूटी समझ कर अनदेखा कर रहे है। एक ओर  सरकार मुफ्त में पौधा बांट कर पेड़ लगवा रही है तो दूसरी ओर लोग पेड़ को काट रहे है। सबसे बड़ी विडंबना तो यह है कि इस ऑक्सीजन देने वाले पेड़ो के बारे में पढ़े लिखे लोगो को छोड़ दीजिये अनपढ़ भी जानते है। लेकिन सीतामढ़ी के कुछ चिकित्सको को इसकी जानकारी नही है। बता दे कि नगर के हॉस्पिटल रोड, रिंग बांध स्थित मां जनकनंदिनी हॉस्पिटल के सामने बांध पर बरसो पुराना एक आम का पेड़ है। जिस पर प्रत्येक वर्ष की तरह इस वर्ष भी काफी फल लगे हुए है। 

लेकिन इस अस्पताल के चिकित्सक उसे हटाने के लिए कई प्रयास कर चुके है। कभी डाल कटवा देना तो कभी कुछ। इस बार तो उनलोगों ने हद ही पार कर दी। पेड़ के बगल में जेनरेटर लगा दिया और उसका धुँआ देने वाले पाइप को पेड़ में बांध दिया। आधा पेड़ अब तक काली स्याही से पूत चुका है। इधर तीन चार दिनों में तो सभी पत्ते और टहनियां भी सूखने लगा है। इस बाबत जब स्थानीय लोगो ने जिला वन पदाधिकारी को मोबाइल पर सूचना दिया तो पहले तो उन्होंने आवेदन देने की बात कही। फिर सरकारी पेड़ की बात बताई गई तो जांच का आश्वासन दिया। सबसे अहम बात तो यह है कि जिस क्लिनिक के आगे यह पेड़ है उस हॉस्पिटल के ऊपर एक दर्जन चिकित्सक का नाम लिखा बोर्ड लगा है। 

परंतु शायद ऑक्सीजन वाली बात या फिर वन संरक्षण वाली बात उन्हें नही मालूम। या फिर वास्तु शास्त्रों के अनुसार दुकान के सामने पेड़ या खंभा होने से दुकानदारी कम चलने के डर से भी इस अस्पताल वाले ने इस कुकृत्य को अंजाम दिया हो। अब देखना है कि वन विभाग इस पर क्या कार्रवाई करता है या मामला युहीं ठन्डे बस्ते में चला जायेगा। 

सीतामढ़ी से अविनाश कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News