डोलो-650 दवा कंपनी बड़ा फर्जीवाड़ा उजागर, बिक्री बढ़ाने के लिए डॉक्टरों को बांट दिया 1000 करोड़ रुपए

डोलो-650 दवा कंपनी बड़ा फर्जीवाड़ा उजागर, बिक्री बढ़ाने के लिए डॉक्टरों को बांट दिया 1000 करोड़ रुपए

DESK. बुखार की दवा डोलो-650 ने कुछ महीने पूर्व बिक्री का नया रिकॉर्ड बनाया था. जनवरी 2022 में डोलो-650 बनाने वाली कंपनी माइक्रो लैब्स लिमिटेड ने दावा किया था कोरोना काल में मार्च 2020 से दिसंबर 2021 के दौरान 20 महीनों में 567 करोड़ रुपए की 350 करोड़ डोलो 650 टैबलेट बिकी. लेकिन अब एक कंपनी का एक फर्जीवाड़ा उजागर हुआ है. आयकर विभाग ने माइक्रो लैब्स लिमिटेड के बेंगलुरु सहित देश के 9 राज्यों में छापेमारी की है. इसमें जो राज उजागर हुए हैं वे बेहद चौकाने वाले हैं. 

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने डोलो-650 दवा बनाने वाली कंपनी के खिलाफ अपने उत्पादों को बढ़ावा देने के बदले डॉक्टरों और चिकित्सा पेशेवरों को लगभग 1,000 करोड़ रुपये के मुफ्त उपहार देने का आरोप लगाया है. आयकर विभाग ने छह जुलाई को बेंगलुरु स्थित माइक्रो लैब्स लिमिटेड के नौ राज्यों में 36 परिसरों पर छापेमारी के बाद यह दावा किया है. सीबीडीटी ने बुधवार को एक बयान में कहा कि दवा निर्माता कंपनी के खिलाफ कार्रवाई के बाद विभाग ने 1.20 करोड़ रुपये की अघोषित नकदी और 1.40 करोड़ रुपये के सोने और हीरे के आभूषण जब्त किए हैं.

सीबीडीटी ने कहा, ‘‘तलाशी अभियान के दौरान दस्तावेजों और डिजिटल डेटा के रूप में पर्याप्त आपत्तिजनक सबूत मिले हैं और उन्हें जब्त कर लिया गया है.’’ बोर्ड के अनुसार, ‘‘सबूतों से संकेत मिलता है कि समूह ने अपने उत्पादों/ब्रांड को बढ़ावा देने के लिए अनैतिक प्रथाओं को अपनाया है. इस तरह के मुफ्त उपहारों की राशि लगभग 1,000 करोड़ रुपये होने का अनुमान है.’’ सीबीडीटी ने हालांकि अभी अपने बयान में समूह की पहचान नहीं की है लेकिन सूत्रों ने पुष्टि की है कि यह समूह माइक्रो लैब्स ही है.

सूत्रों का कहना है कि माइक्रो लैब्स ने एक योजना के तहत देश में बड़े स्तर पर डॉक्टरों को गिफ्ट बांटा. इससे कोरोना काल में डॉक्टरों ने सबसे ज्यादा लोगों को डोलो 650 खाने की सलाह दी. एक दौर में बाजार में डोलो 650 टेबलेट की भारी कमी हो गई थी. कंपनी ने अपनी व्यापारिक रणनीति के तहत ऐसा किया जिससे डॉक्टरों ने लोगों को डोलो 650 खाने का सुझाव दिया. इस तरह माइक्रो लैब्स की डोलो 650 ने बिक्री का नया रिकॉर्ड बना दिया और कंपनी ने कोरोना काल में जोरदार मुनाफा कमाया. अब सीबीडीटी के दावों में कंपनी की इस घपलेबाजी वाली रणनीति उजागर हुई है जिसमें डॉक्टरों को 1000 करोड़ रुपए का गिफ्ट बांटने का मामला सामने आया है. 


Find Us on Facebook

Trending News