हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रभात कुमार के निधन पर केदारनाथ पाण्डेय ने जताया शोक, कहा बिहार को हुई अपूरणीय क्षति

हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रभात कुमार के निधन पर केदारनाथ पाण्डेय ने जताया शोक, कहा बिहार को हुई अपूरणीय क्षति

PATNA : बिहार ही नहीं देश के जाने माने हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रभात कुमार का कल हैदराबाद में इलाज के दौरान निधन हो गया. उनके निधन के बाद चिकित्सा जगत में शोक की लहर दौड़ गयी है. विधान पार्षद और बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष केदारनाथ पाण्डेय ने कहा की बिहार ही नहीं राष्ट्रीय स्तर के हृदय रोग विशेषज्ञ डॉक्टर प्रभात कुमार के निधन से मेरी व्यक्तिगत और बिहार के 12 करोड़ लोगों को अपूरणीय क्षति हुई है. 

उन्होंने कहा की वह सिर्फ चिकित्सक ही नहीं, सच कहा जाए तो गरीबों के मसीहा थे. डॉक्टर प्रभात जैसा व्यक्ति सदियों में कभी-कभी पैदा होता है. जब कभी किसी शिक्षक अथवा उसके आश्रित को देखने के लिए संपर्क किया तो ना केवल उसी दिन देखा. बल्कि 10-20 हज़ार रूपये भी छोड़ दिए. अपने विनम्र, शालीन स्वभाव और सदा हंसते मुस्कुराते चेहरे से वे रोगी को देखते ही आधा रोग दूर कर देते. 

केदारनाथ पाण्डेय ने कहा की उनके संबंध में लिखते हुए वाणी नि:शब्द हो रही है और हाथ कांप रहे हैं. दो पंक्तियों में कहे तो हजारों साल नर्गिस अपनी बेनूरी पर रोती है. बड़ी मुश्किल से होता है चमन में दीदवर पैदा.

Find Us on Facebook

Trending News