डॉ. सहजानंद ने मोकामा परशुराम मंदिर में की पूजा, 12 जिलों से पहुंचे बाइक सवार हजारों श्रद्धालु

डॉ. सहजानंद ने मोकामा परशुराम मंदिर में की पूजा, 12 जिलों से पहुंचे बाइक सवार हजारों श्रद्धालु

पटना. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. सहजानंद ने मंगलवार को परशुराम मंदिर में पूजा की। उन्होंने कहा कि मोकामा का परशुराम मंदिर सामाजिक समरसता और सहकार का प्रतीक है। इसकी सामाजिक महत्ता समाज के हर वर्ग को एकजुटता में पिरोने की रही है।

महोत्सव में शामिल होने के लिए राज्य के करीब 12 जिलों से सैंकड़ों बाईक सवार श्रद्धालु शोभा यात्रा के साथ मोकामा पहुंचे। पटना, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, बेगूसराय, दरभंगा, खगड़िया, लखीसराय, शेखपुरा, जमुई, नालंदा, नवादा आदि जिलों से आए श्रद्धालुओं का हथिदह में स्वागत किया गया। बाद में मोकामा के चिंतामणिचक में, पूर्व सांसद सूरजभान सिंह की ओर से तेराहा पर, सामाजिक कार्यकर्ता और नेता ललन सिंह की ओर से 502 में, व्यापारियों की ओर से जेपी चौक पर, रवीश कुमार की ओर से थाना चौक पर सभी का स्वागत, सत्कार एवं अभिनंदन किया गया।

डॉ. सहजानंद ने परशुराम को सामाजिक न्याय का प्रतीक बताया। उन्होंने कहा कि मोकामा का परशुराम मंदिर बिहार में अपनी तरह का एक मात्र परशुराम को समर्पित मंदिर है। इसकी ख्याति और लोक आस्था से श्रद्धालु अभिभूत होते रहे हैं। इसी कारण हर साल यहां अक्षय तृतीया पर राज्य के अलग अलग जिलों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं। उन्होंने मंदिर की व्यवस्था और एक सप्ताह तक चलने वाले आयोजन की सराहना।

डॉ. सहजानंद का बाबा परशुराम सेवा समिति की ओर से अभिनंदन किया गया। अध्यक्ष कुमकुम सिंह, उपाध्यक्ष डॉ. राजेश कुमार सहित अन्य लोगों ने अंगवस्त्र और परशुराम के चित्र से डॉ. सहजानंद एवं बाइक सवार श्रद्धालुओं का स्वागत किया।

Find Us on Facebook

Trending News